Wednesday, December 8th, 2021

Adani Group के शेयरों में आई बहार, निजीकरण की खबर से इन 2 सरकारी बैंकों में 20% का उछाल

सप्ताह के पहले दिन सोमवार को कारोबारी दिन समाप्त होने पर सेंसेक्स 230 अंकों की तेजी के साथ 52574 के स्तर पर और निफ्टी 63 अंकों की तेजी के साथ 15740 के स्तर पर बंद हुआ.

आज सुबह जब बाजार खुला तो इस पर काफी दबाव दिख रहा था. सुबह सेंसेक्स 457 अंकों की गिरावट के साथ 51887 के स्तर पर खुला. कारोबार के दौरान यह 51740 के न्यूनतम स्तर और 52629 के उच्चतम स्तर तक पहुंचा था.

आज सेसेंक्स दिन के न्यूनतम स्तर से 834 अंकों की तेजी के साथ बंद हुआ, जबकि ऊच्चतम और न्यूनतम स्तर का अंतर 889 अंकों का रहा. वैश्विक स्तर पर मिले-जुले रुख के बीच एचडीएफसी बैंक,

एचडीएफसी लि., भारतीय स्टेट बैंक और रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयरों में तेजी से बाजार में मजबूती आई.सेंसेक्स के शेयरों में करीब 4 प्रतिशत की तेजी के साथ सर्वाधिक लाभ में एनटीपीसी का शेयर रहा.

इसके अलावा टाइटन, एसबीआई, एचयूएल, इंडसइंड बैंक और अल्ट्राटेक सीमेंट में भी अच्छी तेजी रही. दूसरी तरफ, मारुति, टीसीएस, टेक महिंद्रा और एल एंड टी समेत अन्य शेयरों में गिरावट रही.

अडाणी ग्रुप ने मचाया धमाल

इधर अडाणी ग्रुप के शेयरों पर मानों संकट के बादल टल गए हैं. आज अडाणी ग्रुप की लिस्टेड छह कंपनियों में चार में अपर सर्किट लगा. आज Adani Green Energy में 5 फीसदी, Adani Power में 4.96 फीसदी, Adani Transmission में 5 फीसदी और Adani Total Gas में 5 फीसदी का अपर सर्किट लगा. इसके अलावा Adani Enterprises में आज 3.53 फीसदी और अडाणी पोर्ट्स एंड स्पेशल इकोनॉमिक जोन में 5.29 फीसदी की तेजी दर्ज की गई.

इन दो सरकारी बैंकों में 20 पर्सेंट का उछाल

इसके अलावा आज PSU बैंकिंग शेयरों में जबरदस्त तेजी रही. सीएनबीसी आवाज की रिपोर्ट के मुताबिक नीति आयोग ने Central Bank of India and Indian Overseas Bank को विनिवेश के लिए चुना है. सरकार पहले चरण में इन दों बैंकों में अपनी 51-51 फीसदी हिस्सेदारी बेचेगी. इस खबर के सामने आने के बाद दोनों शेयरों में 20 फीसदी पर अपर सर्किट लगा.

वैश्विक स्तर पर रुख अभी भी कमजोर

रिलायंस सिक्योरिटीज के रणनीति प्रमुख विनोद मोदी के अनुसार शुरूआती कारोबार में गिरावट से घरेलू शेयर बाजार तेजी से बाहर निकला और वैश्विक स्तर पर कमजोर रुख के बावजूद बढ़त के साथ बंद हुआ.

AGM से पहले रिलायंस के शेयरों में हलचल

उन्होंने कहा, ‘‘सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के शेयरों में सुधार बाजार में तेजी का प्रमुख कारण रहा. रिलायंस इंडस्ट्रीज की सालाना आम बैठक से पहले कंपनी का शेयर मजबूत हुआ और बाजार को संभलने में मदद मिली. वाहन और आईटी को छोड़कर ज्यादातर प्रमुख खंडवार सूचकांक नुकसान से उबरते हुए लाभ में रहे.’’

स्मॉल और मिडकैप शेयरों में रही तेजी

निवेशकों ने गिरावट के बाद एक बार फिर छोटी और मझोली कंपनियों के शेयरों में लिवाली को तरजीह दी. एशिया के अन्य बाजारों में ज्यादातर में गिरावट का रुख रहा. हालांकि, यूरोप के प्रमुख बाजारों में शुरूआती कारोबार में तेजी रही. इस बीच, अंतरराष्ट्रीय तेल मानक ब्रेंट क्रूड 0.18 प्रतिशत मजबूत होकर 73.46 डॉलर प्रति बैरल पर बंद हुआ.

Leave a Reply

x
%d bloggers like this: