Wednesday, December 8th, 2021

Amarinder Singh Resigns from Congress: अमरिंदर सिंह ने कांग्रेस से दिया इस्तीफा, पंजाब लोक कांग्रेस रखा नई पार्टी का नाम

अमरिंदर सिंह ने मंगलवार को कांग्रेस का हाथ छोड़ दिया है। अब वे अपनी पार्टी के कैप्टन होंगे। अमरिंदर सिंह ने नई पार्टी का नाम पंजाब लोक कांग्रेस रखा है। अभी तक अमरिंदर सिंह को मनाने की चर्चा थी लेकिन उन्होंने खुद इन खबरों का खंडन किया था। कैप्टन ने कहा था कि कांग्रेस को छोड़ने का फैसला अंतिम है। अब पार्टी से इस्तीफा देकर उन्होंने अपना रुख स्पष्ट कर दिया है। पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने मंगलवार को सोनिया गांधी को पत्र लिखकर कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया है। इसी के साथ उन्होंने पंजाब लोक कांग्रेस पार्टी की घोषणा की। हालांकि अभी चुनाव आयोग से अनुमोदन मिलना बाकी है। कैप्टन अमरिंदर सिंह ने ट्वीट किया कि मैंने अपना इस्तीफा सोनिया गांधी को भेज दिया है।पंजाब लोक कांग्रेस नई पार्टी का नाम होगा। हालांकि अभी पंजीकरण बाकी है। पार्टी का चुनाव चिह्न बाद में मिलेगा। सोनिया गांधी को भेजे सात पन्नों के पत्र में कैप्टन ने नवजोत सिंह सिद्धू पर जमकर निशाना साधा है। उन्होंने लिखा कि मेरे लगातार चेताने के बावजूद और पंजाब के सभी सांसदों की सर्वसम्मति से बनी सलाह के बाद आपने पाकिस्तान प्रेमी एक अनुचर (नवजोत सिंह सिद्धू) को नियुक्त करने का फैसला किया, जिसने सार्वजनिक तौर पर पाकिस्तान के सेना प्रमुख जनरल बाजवा और इमरान खान को गले लगाया था। कैप्टन ने कहा कि सिद्धू को राहुल व प्रियंका गांधी का संरक्षण प्राप्त था। जबकि आपने आंखें मूंद ली। हरीश रावत ने सिद्धू की सहायता की और उकसाया भी। कैप्टन ने पत्र में कांग्रेस के साथ अपने लंबे कार्यकाल का जिक्र किया और यह आरोप लगाया है कि उन्हें अब पार्टी में मान-सम्मान नहीं दिया जा रहा था।उधर चन्नी व सिद्धू पहुंचे उत्तराखंड, इधर कैप्टन ने किया बड़ा एलान
पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी इन दिनों कैप्टन अमरिंदर सिंह के करीबी नेताओं से मुलाकात करने में जुटे थे। वे लगातार कैप्टन के करीबियों को मना रहे थे। इस बीच मंगलवार को वह नवजोत सिंह सिद्धू, राणा केपी सिंह व हरीश चौधरी के साथ उत्तराखंड पहुंचे। यहां उन्होंने केदारनाथ धाम में पूजा-अर्चना की। इस बीच कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कांग्रेस से इस्तीफा देकर पंजाब का सियासी माहौल गर्मा दिया। सिद्धू से विवाद के बीच कैप्टन ने छोड़ा था सीएम पद
कई साल से सिद्धू और कैप्टन अमरिंदर सिंह के बीच अनबन थी। लेकिन पिछले कुछ महीनों में यह चरम पर पहुंच गई। चंडीगढ़ में अचानक कांग्रेस विधायक दल की बैठक बुलाई गई लेकिन इसकी जानकारी कैप्टन अमरिंदर सिंह को नहीं दी गई थी। सोनिया गांधी से फोन पर बातचीत के बाद कैप्टन अमरिंदर सिंह ने मुख्यंत्री पद से अपना इस्तीफा दे दिया था। कैप्टन के इस्तीफे के पीछे हरीश रावत की भूमिका बेहद अहम थी। 

Leave a Reply

x
%d bloggers like this: