Tuesday, June 22nd, 2021

Corona की Third Wave से बचने डॉक्टर त्रिवेदी ने बताए अचूक उपाय

Corona की Third Wave से बचने डॉक्टर त्रिवेदी ने बताए अचूक उपाय

Corona की Third Wave से बचने डॉक्टर त्रिवेदी ने बताए अचूक उपाय रायपुर ,(न्यूज़ हसल इंडिया),
कोरोना (Coronavirus) संक्रमण आज के समय में एक गंभीर समस्या बन गई है। इसके लिए सरकार की ओर से वैक्सीनेशन (Vaccination) का कार्य प्रारम्भ कर दिया गया है।

आज के समय में कोरोना (Corona) के लिए लोगों को आर्थिक रूप से कठिन समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। एक बार किसी प्राइवेट हॉस्पिटल में एडमिट होने के बाद उन्हें कोई छोटी मोटी नहीं बल्कि एक मोटी फीस देनी पड़ती है। ऐसे में उनके जान बचने की भी कोई गारंटी नहीं होती है भरी भरकम राशि भी निकल जाती है।

ऐसे में लोग आज के समय में होम्योपैथी डॉक्टर्स की ओर भी जा कर अपना ट्रीटमेंट करवा रहे है और ठीक हो रहे है। इसी होम्योपैथी ट्रीटमेंट की जानकारी और होम्योपैथी से कोरोना के इलाज के लिए न्यूज़ हसल इंडिया ने रायपुर आजाद चौक स्थित डॉक्टर त्रिवेदी से बेबाक बातचीत की। बातचीत में उन्होंने कोरोना की तीसरी लहर के असर के विषय और उनकी सावधानियों पर कुछ विचार रखे। डॉक्टर त्रिवेदी ने बताया कोरोना की दूसरी लहर ही इतनी घातक है,

कि इस लहर ने बहुत से पीड़ित व्यक्तियों को 24 घंटे में बचने का समय भी नहीं दिया और उनका संक्रमण लगातार बढ़ते गया। जिससे उनकी मृत्यु हो गई। इसके बाद यह तीसरी लहर आनी है।इसी बीच डॉक्टर भी प्रतिदिन बारह घंटे सेवाएं देकर 100 -150 मरीजों का इलाज कर रहे हैं।

इसके साथ ही उन्होंने इस (Coronavirus) महामारी के बारे में यह भी बताया कि यह महामारी ऐसे समय में आती है। जब मौसम में परिवर्तन होता है। हो सकता है इसके बाद चौथी लहर भी आ जाए कुछ कहा नहीं जा सकता है। ऐसी में हमें सावधान रहना बहुत ही जरूरी है। यह सभी वर्ग के लिए आवशयक है।

अब तीसरी लहर से बच्चों को भी खतरा हो सकता है इसका कारण यह है कि भारत में वैक्सीन युवाओं और बुजुर्गों को तो लग रही है। जिससे वे सुरक्षित हो जाएंगे पर बच्चों को नहीं लग रही है। ऐसे में बच्चों को संक्रमण का खतरा अधिक बढ़ रहा है। ऐसे में बच्चों को भी सुरक्षित रखना अति आवश्यक है।

उन्होंने बताया कि वे होम्योपैथी के माध्यम से भी बहुत सफलतापूर्वक इलाज कोरोना के मरीजों को ठीक कर रहे हैं। ऐसी उनके स्टाफ भी उनके साथ पूरा सहयोग करते हुए काम कर रहे है। वे भी ठीक है और हम होम्योपैथी के माध्यम से बिना संसाधन के अपनी दवाइयों से कोरोना के मरीजों का ऑक्सीजन लेवल भी ठीक कर रहे है।

अभी कोरोना के समय में हमने करीब 2000 मरीजों का इलाज किया जिनमे 1600 से 1700 मरीजों को दवाइयों के माध्यम से 100 प्रतिशत ठीक करने में सफल रहे हैं। आज जब अमेरिका जैसे शक्तिशाली देश में भी कोरोना ने इतना बड़ा संकट खड़ा कर दिया है। पूरा सिस्टम भी असंतुलित हो गया है,

तो भारत जैसे देश में जहां मरीजों की संख्या ज्यादा हो रही है और डॉकटर्स कम पड़ रहे है कड़ा संघर्ष कर रहें हैं वह कम बात नहीं है। । उन्होंने सरकार से मीडिया के माध्यम से अपील की है कि होम्योपैथी वर्कर्स को भी प्राथमिकता में लिए जाए और उन्हें भी संसाधन उपलबध करवाकर कोरोना के मरीजों को ठीक करने में प्राथमिकता दी जाए।

डॉक्टर त्रिवेदी ने यह भी बताया कि कोरोना यह नहीं देखता कि आप किस उम्र के है कोरोना हर वर्ग पर अटैक कर सकता ह। ऐसे में सभी वर्ग के लोगों को खुद को मजबूत बनाना अत्यावश्यक है। फिलहाल तीसरी लहर में बच्चों को सुरक्षित रखना ज्यादा जरुरी है

क्योकि तीसरी लहर बच्चों पर ज्यादा अटेक कर सकती है। 18 के बाद वालों को वेक्सीन दी जा रही है जो उनको सुरक्षा प्रदान करेगी लेकिन 18 से कम उम्र के लिए कठिनाई आ सकती है। इसलिए तीसरी लहर पर बच्चों पर ध्यान देना नितांत आवश्यक है।

डाक्टर त्रिवेदी ने क्या कहा देखे पूरा वीडियो

Leave a Reply

x
%d bloggers like this: