Friday, September 17th, 2021

Breaking News : Mamta Banerji आज शाम 4 बजे PM Modi से करेंगी मुलाकात

Breaking News :

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव (West Bengal Assembly Election) में जीत के बाद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) से शाम 4 बजे मुलाकात करेंगी. बंगाल में लगातार तीसरी बार सत्ता पर काबिज होने के बाद ममता की प्रधानमंत्री से यह पहली मुलाकात होगी.

इससे पहले वे कांग्रेस नेता कमलनाथ (Kamal nath), आनंद शर्मा (Anand Sharma) और अभिषेक मनु सिंघवी समेत अन्य विपक्षी नेताओं से भी मुलाकात करेंगी. सूत्रों के मुताबिक, ममता बुधवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (President Ramnath Kovid) और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) से भी मिल सकती हैं.

बता दें कि सीएम ममता बनर्जी सोमवार की शाम को दिल्ली पहुंची हैं. पांच दिवसीय दिल्ली दौरे के दौरान ममता बनर्जी पर लोगों की निगाहें टिकी हुई हैं. साल 2024 के लोकसभा चुनाव में पीएम नरेंद्र मोदीकी अगुवाई वाली बीजेपी को केंद्र की सत्ता से उखाड़ फेंकने और विरोधी दलों को एकजुट करने की मंशा से ममता बनर्जी विरोधी दलों के साथ बैठक करेंगी.

बंगाल विधानसभा चुनाव के बाद पहली बार होगा पीएम से आमना-सामना

मार्च-अप्रैल में हुए बंगाल चुनाव के बाद ममता बनर्जी और नरेंद्र मोदी का पहली बार आमना-सामना होगा. एक और खास बात यह है कि ममता की मोदी से मुलाकात ऐसे समय होने जा रही है जब ममता पेगासस जासूसी विवाद और मीडिया हाउसेज पर रेड जैसे मुद्दों को लेकर केंद्र सरकार पर हमलावर हैं. सूत्रों का कहना है कि मुलाकात के दौरान ममता बनर्जी पीएम मोदी से बकाये जीएसटी भुगतान, वैक्सीन की मांग और विभिन्न आपदाओं के लिए बंगाल को मिलने वाले मुआवजा की मांग करेंगी.

दिल्ली में सबसे पहले जर्नलिस्ट से मिलीं ममता

सोमवार को दिल्ली पहुंचने के बाद ममता की पहली मुलाकात पत्रकार विनीत नारायण से हुई, जिन्होंने 1996 में जैन हवाला घोटाले पर एक किताब लिखी है. हाल ही में ममता बनर्जी ने आरोप लगाया था कि बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ घोटाले के कथित लाभार्थियों में से एक थे. हालांकि, जगदीप धनखड़ ने दावे का खंडन किया है. सूत्रों के मुताबिक, ममता समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के भी मिल सकती हैं.

2024 लोकसभा चुनाव की तैयारी, विपक्ष को एकजुट करने की कवायद

ममता बनर्जी 2024 में होने वाले लोकसभा चुनाव से पहले राष्ट्रीय स्तर पर बड़ी भूमिका निभाने की तैयारी में हैं. पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में लगातार तीसरी बार जीत करने के बाद पर ममता बनर्जी का यह पहला दिल्ली दौरा है. राजनीति गलियारों में चर्चा है कि ममता खुद को तीसरे मोर्चे के चेहरे के रूप में देखना चाहती हैं. ममता के दिल्ली दौरे को राष्ट्रीय राजनीति में उनका कद बढ़ाने की कोशिश के तौर पर देखा जा रहा है. साथ ही माना जा रहा है कि ममता बंटे हुए विपक्ष को बीजेपी के खिलाफ एकजुट करना चाहती हैं. हाल ही में हुए बंगाल चुनाव में बीजेपी के खिलाफ तृणमूल की जीत को देखते हुए भी ममता के दिल्ली दौरे को लेकर चर्चाएं तेज हैं.

Leave a Reply

x
%d bloggers like this: