Friday, September 17th, 2021

CG News : बिजली कर्मियों को 28% मंहगाई भत्ता; प्रदेश के कर्मचारी 16% पीछे,8 को धरना

रायपुर,6 अगस्त 21,NHI , छत्तीसगढ़ प्रदेश तृतीय वर्ग शासकीय कर्मचारी संध द्वारा प्रदेश के शासकीय सेवकों को लंबित  04 किश्तों क्रमशः 01 जुलाई 2019 से 01 जुलाई 2021 तक देय मंहगाई भत्ता को लंबित रखने तथा प्रदेश में तृस्तरीय पंचायती राज की भाॅति तृस्तरीय मंहगाई भत्ता दिए जाने की आलोचना की है। छत्तीसगढ़ राज्य में विद्युत मण्डल के कर्मचारियों को 12 प्रतिशत् मंहगाई भत्ता को वृद्वि कर 28 प्रतिशत् मंहगाई भत्ता देने का निर्णय लिया गया। निःसंदेह यह स्वागत योग्य कदम है। किंतु इस राशि को प्रदेश की भोलीभांली जनता को विद्युत दरों में 6 प्रतिशत् वृद्वि किए जाने के निर्णय का संध ने विरोध किया है। संध ने 8 अगस्त तक 16 प्रतिशत लंबित मंहगाई भत्ता भुगतान आदेश छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा जारी न करने पर रविवार को छत्तीसगढ़ कर्मचारी अधिकारी फेडरेशन द्वारा आयोजित बूढ़ातालाब धरना स्थल पर प्रतिकात्मक धरना अनशन में भाग लेने का निर्णय लिया गया है। संध के प्रांतीय अध्यक्ष विजय कुमार झा एवं जिला शाखा अध्यक्ष इदरीश खाॅन ने बताया है कि संध छत्तीसगढ़ राज्य में प्रभावी तृस्तरीय पंचायती राज व्यवस्था की भाॅति तृस्तरीय मंहगाई भत्ता दिए जाने को अव्यवहारिक निरूपित किया है। संध ने प्रदेश सरकार के शासकीय सेवकों को 12 प्रतिशत् मंहगाई भत्ता दिए जाने तथा इसी राज्य में केन्द्रीय कर्मचारियों तथा विद्युत मण्डल के कर्मचारियों को 28 प्रतिशत् मंहगाई भत्ता दिए जाने की आलोचना की है। एक ही राज्य में तीन प्रकार के मंहगाई भत्ता क्रमशः छत्तीसगढ़ शासन के कर्मचारियों को 12 प्रतिशत् तथा केन्द्रीय कर्मचारियों एवं विद्युुत नियामक आयोग के कर्मचारियों को 28 प्रतिशत् मंहगाई भत्ता दिया जाना छत्तीसगढ़ की माटी में भेंदभाव की नीति की आलोचना की है।

Leave a Reply

x
%d bloggers like this: