Friday, September 17th, 2021

CG News : शुद्ध पेेयजल की उपलब्धता जीवन की मूलभूत आवश्यकता: केन्द्रीय मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत 

रायपुर : छत्तीसगढ़ में जल जीवन मिशन का काम एक अभियान के रूप में संचालित किया जा रहा है : मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल 

वर्ष 2021-22 में 22.14 लाख घरांे में नल कनेक्शन देने का लक्ष्य


मुख्यमंत्री बघेल और केन्द्रीय मंत्री शेखावत की उपस्थिति में जल जीवन मिशन की समीक्षा

राज्य सरकार की नरवा योजना से बढ़ रहा भूजल स्तर

वर्ष 2023 तक राज्य के हर घर में मुफ्त नल कनेक्शन का लक्ष्य

रायपुर, 7 अगस्त 2021 NHI

42BB1A51E40A863443E99763D5258DE9

 भारत सरकार के जल शक्ति मंत्री श्री गजेन्द्र सिंह शेखावत और मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की उपस्थिति में आज यहां मुख्यमंत्री निवास कार्यालय रायपुर में आयोजित बैठक में छत्तीसगढ़ में जल जीवन मिशन की प्रगति की समीक्षा की गई। बैठक में छत्तीसगढ़ के लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मंत्री गुरु श्री रुद्रकुमार, कृषि एवं जल संसाधन मंत्री श्री रविंद्र चौबे, मुख्य सचिव श्री अमिताभ जैन, राष्ट्रीय जल जीवन मिशन के संचालक श्री भरतलाल, सुश्री रूपा मिश्रा और श्री अमित शुक्ला, छत्तीसगढ़ लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के सचिव श्री सिद्धार्थ कोमल सिंह परदेशी उपस्थित थे।
मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने बैठक में कहा कि छत्तीसगढ़ में जल जीवन मिशन का काम एक अभियान के रूप में किया जा रहा है। वर्ष 2023 तक राज्य के हर घर में मुफ्त नल कनेक्शन देने का लक्ष्य है। इस मिशन में प्रति व्यक्ति प्रति दिन 55 लीटर के मान से जल की आपूर्ति की जानी है। इस मापदंड को ध्यान में रखते हुए लंबे समय तक जल की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए राज्य सरकार की नरवा विकास योजना में वॉटर रिचार्जिंग का काम बड़े पैमाने पर किया जा रहा है। पिछले ढाई वर्षों में वन विभाग तथा जल संसाधन विभाग पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग सहित अन्य विभागों के समन्वय से किए जा रहे वॉटर रिचार्जिंग के कार्य से कई क्षेत्रों के जल स्तर में उल्लेखनीय वृद्धि दर्ज की गई है। मुख्यमंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ नया और पिछड़ा राज्य है, इसलिए जल जीवन मिशन के लिए केन्द्रांश की राशि 50 प्रतिशत से बढ़ाकर 75 प्रतिशत की जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि राज्य के 14 जिले नक्सल प्रभावित हैं, इन जिलों में सघन वन हैं, इन क्षेत्रों की दुर्गम भौगोलिक परिस्थितियों के कारण बिजली नहीं पहंुची है। वनांचल बाहुल्य क्षेत्र में योजना की लागत बढ़ जाती है। छत्तीसगढ़ को केन्द्र सरकार से जीएसटी की राशि मिलना भी शेष है। 
केन्द्रीय मंत्री श्री गजेन्द्र सिंह शेखावत ने कहा कि नागरिकों को शुद्ध पेयजल की उपलब्धता जीवन की मूलभूत आवश्यकता है, इसलिए भारत सरकार और राज्य सरकार जल जीवन मिशन के कार्यो को प्राथमिकता से पूरा कर रही है। वर्ष 2024 तक देश के हर घर में शुद्ध पेयजल पहुंचाने का लक्ष्य है और बहुत से राज्य इस लक्ष्य को तेजी से पूरा करने का प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा इस मिशन के लिए राज्यों को सामान्य रूप से 50 प्रतिशत राशि उपलब्ध कराई जा रही है। उन्होेंने कहा कि ऐसे गांव जहां पहले से ही नलजल योजना संचालित हैं और वहां कुछ घरों में पानी पहंुचाने का काम बच गया है, ऐसे गांवों में प्राथमिकता के आधार पर जल जीवन मिशन के कार्य पूर्ण किए जाएं तो इससे कार्य में गति आएगी। उन्होंने कहा कि लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग का काम केवल पेयजल योजनाओं के निर्माण का ही नहीं है, बल्कि पेयजल योजनाओं का नियमित संचालन, समुचित मात्रा में गुणवत्तापूर्ण जल की आपूर्ति और समय-समय पर वॉटर टेस्टिंग का काम करना भी है। केन्द्रीय मंत्री ने जल जीवन मिशन के कार्यों की नियमित समीक्षा की आवश्यकता पर बल दिया। 

Leave a Reply

x
%d bloggers like this: