Friday, July 23rd, 2021

CWC टला Congress अध्यक्ष का चुनाव, Sonia Gandhi Congress के प्रदर्शन से निराश

CWC टला Congress अध्यक्ष का चुनाव, Sonia Gandhi Congress के प्रदर्शन से निराश

CWC टला Congress अध्यक्ष का चुनाव, Sonia Gandhi Congress के प्रदर्शन से निराश : कांग्रेस Congress अध्यक्ष सोनिया गांधी Sonia Gandhi ने हाल के चुनावों में कांग्रेस की नाकामी की समीक्षा के लिए एक समिति बनाने की बात कही. उन्होंने असम और केरल की हार तथा पश्चिम बंगाल में ज़ीरो सीट को अत्यंत निराशाजनक बताया.

उन्होंने कहा कि कोरोना नियंत्रण को लेकर मोदी सरकार नाक़ाम रही है. उन्होंने सर्वदलीय बैठक बुलाने की मांग दोहराई है. कोरोना को अप्रत्याशित स्वास्थ्य संकट बताते सोनिया गांधी Sonia Gandhi ने पार्टी कार्यकर्ताओं से इससे निपटने में हरसंभव सहयोग की अपील की.

कांग्रेस Congress पार्टी के अध्यक्ष पद का चुनाव एक बार फिर टल गया है। कोरोना की दलील देकर कांग्रेस Congress वर्किंग कमिटी ने चुनाव को टालने का फैसला किया है। सूत्रों के मुताबिक, बैठक में कहा गया कि कोरोना महामारी की मौजूदा स्थिति में चुनाव कराना ठीक नहीं होगा और इसलिए इसे स्थगित करने का फैसला लिया गया है। पिछले वर्किंग कमिटी में सेंट्रल इलेक्शन अथॉरिटी ने 23 जून को चुनाव कराने का फैसला लिया था। चुनाव के लिए नई तारीख का ऐलान सेंट्रल इलेकशन अथॉरिटी की ओर से बाद में किया जाएगा।

2019 लोकसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी की हार के बाद राहुल गांधी ने अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था। इसके बाद सोनिया गांधी को पार्टी का अंतिरिम अध्यक्ष बनाया गया था। लेकिन 2 साल बाद भी पार्टी के अध्यक्ष का चुनाव नहीं हो सका है। माना जा रहा था कि जून में एक बार फिर राहुल गांधी को कांग्रेस की कमान सौंपी जा सकती है। 

कांग्रेस Congress पार्टी ने अध्यक्ष का चुनाव ऐसे समय पर टाला है जब पार्टी के कई नेता जल्द संगठन चुनाव कराने की मांग कर रहे हैं। पार्टी के 23 बड़े नेताओं ने अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को लेटर लिखकर यह मांग की थी। इन नेताओं ने कई बार यह भी कहा है कि संगठन चुनाव और पूर्णकालिक अध्यक्ष नहीं होने की वजह से पार्टी को नुकसान हो रहा है। 

कांग्रेस पार्टी को हाल ही में संपन्न हुए विधानसभा चुनावों में भी करारी हार का सामना करना पड़ा है। तमिलनाडु के अलावा पार्टी को अन्य सभी जगह बेहद निराशाजनक परिणाम मिले हैं। पश्चिम बंगाल में तो खाता भी नहीं खुल पाया, जहां लंबे समय तक इसका शासन रहा है।

Leave a Reply

x
%d bloggers like this: