Monday, May 16th, 2022

Delhi : तीन तलाक के 9 साल बाद दोस्त के साथ हलाला कराने Ex Wife के घर पहुंचा AIMIM का पूर्व नेता, बना रहा था दबाव, मामला दर्ज

देश में ट्रिपल तलाक कानून (Triple Talaq) लागू होने के बाद भी मुस्लिम महिलाओं पर अत्याचार रुकने का नाम नहीं ले रहा. नौ साल पहले अपनी पत्नी से तलाक ले चुका पति अपने दोस्त को लेकर महिला के घर पहुंच गया और उस पर हलाला करने का दबाव बनाने लगा. इसके साथ ही आरोपी ने हलाला न करने पर जान से मारने की धमकी भी दे डाली. जामिया नगर थाना पुलिस ने पीड़िता की शिकायत पर आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच-पड़ताल शुरू कर दी है. वहीं, पीड़िता का पूर्व पति रियाजुद्दीन खान असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी आल इंडिया मजलिस-ए- इत्तेहाद-उल मुस्लिमीन (AIMIM) का उत्तर प्रदेश का सचिव है.

दरअसल, ये मामला राजधानी दिल्ली के जामिया नगर इलाके का है. पुलिस अधिकारी के मुताबिक आरोपी रियाजुद्दीन ने खुद को तलाकशुदा बताकर जनवरी 2012 में महिला से निकाह किया था. लेकिन बाद में महिला को जब इस बात की जानकारी पता चली कि वह तलाकशुदा नहीं है. वही, पीड़ित महिला का आरोप है कि वह अपनी पहली पत्नी के साथ मिलकर उसे परेशान करने लगा. इस बीच पीड़िता ने एक बेटे को जन्म दिया. ऐसे में साल बीते साल 2012 में आरोपी ने पीड़िता को तीन तलाक दे दिया

दोस्त से कराना चाहता था हलाला

पीड़ित महिला ने पुलिस को बताया कि बीते 19 अगस्त 2021 की रात वह अपने एक साथी के साथ उनके घर पहुंचा और कहा कि 9 साल पहले उसने तीन तलाक देकर भूल की थी. उसने बताया कि मैं उसके दोस्त के साथ हलाला करके उससे दोबारा निकाह करूं. जब मैंने उसे ऐसा करने से मना कर दिया तो आरोपी ने उसके कपड़े फाड़ दिए और दुष्कर्म का प्रयास किया और पिटाई की. जब शोर सुनकर पड़ोसी एकत्र हुए तो दोनों वहां से भाग गए.

सुप्रीम कोर्ट में चल रहा मामला

बता दें कि पीड़ित महिला ने बहु विवाह और निकाह हलाला को गैरकानूनी करार देने के लिए 26 मार्च 2018 को सुप्रीम कोर्ट में जनहित याचिका दाखिल की थी. जिस पर इस मामले में अभी सुनवाई चल रही है. सुप्रीम कोर्ट का फैसला आना बाकी है

Leave a Reply

x
%d bloggers like this: