Tuesday, October 26th, 2021

Employment Fair : राष्ट्रीय अप्रेन्टिसशिप मेले में चयनित अभ्यार्थियों की संख्या में म.प्र. देश में तीसरे स्थान पर



रायसेन | 09-अक्तूबर-20210   NHI संचालक, कौशल विकास श्री जितेन्द्र सिंह राजे ने बताया कि 4 अक्टूबर को आयोजित राष्ट्रीय अप्रेन्टिसशिप मेले में चयनित होने वाले अभ्यार्थियों की संख्या में मध्यप्रदेश का देश में तीसरा स्थान है। श्री राजे ने बताया कि स्किल इंडिया, प्रशिक्षण महानिदेशालय और नेशनल स्किल डेवलपमेंट कारपोरेशन के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित राष्ट्रीय अप्रेन्टिसशिप मेले में शामिल होने वाले अभ्यार्थियों की संख्या में 6 हजार 636 युवाओं के साथ प्रथम स्थान कर्नाटक, दूसरे स्थान पर तेलंगाना 5063 तथा 4 हजार 586 युवा अभ्यार्थियों के साथ मध्यप्रदेश तीसरे स्थान पर रहा।
   संचालक श्री राजे ने बताया कि 4 अक्टूबर को देश भर में लगभग 600 से अधिक स्थानों पर अप्रेन्टिसशिप मेला आयोजित किया गया। इसमें लगभग 50 हजार 878 आवेदकों का चयन हुआ है। प्रदेश में अप्रेन्टिसशिप मेले में आईटीआई (इंजीनियरिंग, नॉन इंजीनियरिंग ट्रेड) डिप्लोमा, कौशल प्रमाण-पत्र (PMKY/DDUGKU/MMKSY/YSY) धारक और अन्य स्नातक उत्तीर्ण 10 हजार 957 पुरुष एवं महिला अभ्यार्थी शामिल हुए थे। मेले में रीवा संभाग से 993, भोपाल से 895, इंदौर से 658, जबलपुर से 597, ग्वालियर से 533, उज्जैन से 437, बालाघाट से 239 और सागर संभाग से 234 कुल 4,586 अभ्यर्थियों का चयन हुआ। उन्होंने बताया कि अप्रेन्टिसशिप मेले के दौरान युवाओं से सकारात्मक प्रतिक्रिया मिली है। बदलते बाजार परिदृश्य और उद्योगो के नए स्वरूप के लिए युवाओं को रोजगार के लिए तैयार करने के लिए अप्रेन्टिसशिप एक महत्वपूर्ण घटक है।
   उल्लेखनीय है कि कौशल विकास और उद्यमियता की राष्ट्रीय नीति 2015 के तहत अप्रेन्टिसशिप को कुशल कार्यबल को लाभकारी रोजगार प्रदान करने के साधन के रूप में मान्यता दी गई है। इसका उद्देश्य कुशल कार्यबल के लिए आपूर्ति और मॉग में अंतर को कम करना और मौके पर प्रशिक्षण एवं भर्ती के माध्यम से बेहतर सुनिश्चित करते हुए युवाओं की आकांक्षाओं को पूरा करना है।

Leave a Reply

x
%d bloggers like this: