Friday, September 17th, 2021

Flood MP : बाढ प्रभावितों को त्वरित रेस्क्यू आपरेशन कर सुरक्षित स्थलों पर पहुंचाया गया



विदिशा | 06-अगस्त-2021 , NHI , विदिशा जिले में गत रात्रि से जारी वर्षा के कारण जिले की तीन तहसीलो में बाढ का असर परलिक्षित हुआ है। बाढ प्रभावितों को प्रशासन की मदद से त्वरित रेस्क्यू आपरेशन कर सुरक्षित स्थलों पर पहुंचाया गया है। बाढ के कारण जिले में किसी भी प्रकार से जनहानि नही हुई है। मकान क्षतिग्रस्त हुए है। जिसका सर्वे उपरांत नुकसान का आंकलन लगाया जा रहा है।
    कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने समस्त एसडीएमो को निर्देश दिए है कि जिन क्षेत्रो में बाढ से नुकसान हुआ है उन क्षेत्रों में जल निकासी के बाद अविलम्ब सर्वे कार्य किया जाए। उन्होंने बाढ प्रभावितों को जिन राहत शिविरों में रखा गया है वहां तमाम बुनियादी सुविधाएं सुगमता से मुहैया कराई जाएं इसके अलावा सभी बाढ प्रभावितों के स्वास्थ्य का परीक्षण कराया जाना सुनिश्चित हो।
कलेक्टर डॉ जैन ने बताया कि आरबीसी के प्रावधानो के तहत बाढ प्रभावित परिवारों के लिए पचास-पचास किलो अनाज निःशुल्क आवंटित करने के निर्देश भी राजस्व विभाग के अधिकारियों को प्रसारित किए गए है ततसंबंध में आवश्यक कार्यवाही करने हेतु खाद्य विभाग के अधिकारियों को भी निर्देशित किया गया है।
   कलेक्टर डॉ जैन ने जैसे ही वर्षारूपी जल भराव की सूचनाएं प्राप्त हुई तो अविलम्ब प्रभावितों को सुरक्षित स्थलों पर पहुंचाने के प्रबंध सुनिश्चित कराए है। उन्होंनें कहा कि ऐसे सडक मार्ग जिनकी पुल पुलियों पर पानी है अथवा वर्षा के कारण क्षतिग्रस्त हुए है उन मार्गो की मरम्मत होने के उपरांत ही आवागमन शुरू कराया जाए।
प्रारंभिक जानकारी के अनुसार बाढ का असर सर्वाधिक सिरोंज तहसील में हुआ है। सिरोंज तहसील के ं बीस ग्राम बाढ से प्रभावित हुए है। इन ग्रामो के 698 व्यक्तियों को रेस्क्यू आपरेशन कर होमगार्ड की टीम के द्वारा सुरक्षित स्थलो पर लाया गया। इसके पश्चात् बाढ प्रभावितों को राहत शिविरो में ठहराने के प्रबंध सुनिश्चित किए गए है। इसी प्रकार कुरवाई तहसील में आठ ग्र्रामो के 455 व्यक्ति प्रभावित हुए थे। इन सभी व्यक्तियों को रेस्क्यू आपरेशन कर सुरक्षित स्थलों पर पहुंचाया गया है। इसके अलावा शमशाबाद एसडीएम श्री प्रवीण प्रजापति ने बताया कि अनुविभाग क्षेत्र के चार ग्रामों में बाढ का असर होने पर इन ग्रामो के 55 व्यक्तियों को सुरक्षित स्थलों पर पहुंचाया गया है।
   सिरोंज एसडीएम श्रीमती अंजलि शाह स्वंय बाढ नियंत्रण कार्यो की मानिटरिंग कर रही थी। उन्होंने केथन डेम में जलभराव की स्थिति को देखते हुए डेम के बेस्टवेयर मार्ग क्षेत्र के 12 परिवार रहवासियों को पहले से ही सुरक्षित स्थलों पर पहुंचाया गया है। अतिवर्षा का असर सबसे अधिक सिरोंज तहसील में हुआ है। यहां के बीस ग्राम बाढ से प्रभावित हुए है उनमें दीपनाखेडा, प्याराखेडी, अकबरपुर, कुडका, रूसल्लीघाट, परसौरा, पथरिया, बैदीगढ/अथाईखेडा, कजरीमडवासा, घोसुआताल, उमरिया, मिटेपुर, सुल्तानपुर, सांकलजगथर, आसनपाई, चाठौली, सांइस्ताबाद, रिनिया, कस्बासिरोंज, खूबपुरा शामिल है। इन ग्रामो के 698 व्यक्ति बाढ से प्रभावित हुए है।
   कुरवाई तहसीलदार श्री हेमंत शर्मा ने बताया कि कुरवाई तहसील में बाढ से आठ ग्राम प्रभावित हुए है जिनमे विसनपुर, कूल्हन, सिरावदा, मंजूरखेडी, पिथौली, मदऊखेडी, मैनखेडी, खजूरियाजागीर शामिल है। इन ग्रामो के 455 व्यक्तियों को सुरक्षित स्थलो पर पहुंचाया गया है।
   नटेरनर शमशाबाद के एसडीएम श्री प्रवीण प्रजापति ने बताया कि दोनो अनुविभाग क्षेत्र के तीन ग्राम खंडेर, जोगीकिर्रोदा, सतपाडाहाट शामिल है। सर्वाधिक खडेर ग्राम के पचास व्यक्तियों को सुरक्षित स्थलों पर पहुंचाया गया है जबकि जोगीकिर्रोदा में दो तथा सतपाडा हाट में तीन व्यक्तियो को रेस्क्यू आपरेशन कर बाढ प्रभावित क्षेत्रों से सुरक्षित स्थलों पर लाया गया है।

Leave a Reply

x
%d bloggers like this: