Friday, July 23rd, 2021

Gayatri Jayanti 2021 : माता गायत्री के पूजन से मिलता है ” सुख और समृद्धि का आशीर्वाद “

gayatri jayanti 2021 : हिन्दू धर्म की हमेशा से ही पहचान रही है कि इस धर्म ने हमेशा अपने अंदर बहुत से त्यौहारों को समेटा है । जिसे हमारे भारत देश में बहुत ही मान- सम्मान दिया जाता है।

gayatri jayanti 2021 date : इस बार गायत्री जयंती 21 जून 2021 दिन सोमवार को मनाई जाएगी

आज गायत्री जयंती है। इसे माता गायत्री (mata gayatri) के जन्मदिवस के रूप में मनाया जाता है। माता गायत्री (gaytri maa) को ब्रम्हा जी पत्नी भी कहा जाता है। इनके पांच मुख और दस हाथ हैं।

यह बहुत ही शांत स्वरूप वाली देवी हैं। इनके हाथों में सुन्दर कमल और चक्र आदि विराजमान हैं। जिसे देखकर लगता है। मानों यह शांत रहने वाले व्यक्ति को जहां एक ओर आशीर्वाद प्रदान करती है तो वहीं दूसरी ओर बुरे कर्म करने वाले व्यक्ति को दंड भी देती हैं। गायत्री जयंती ज्येष्ठ मास की एकादशी के दिन मनाया जाता है।

Gayatri Jayanti 2021 : माता गायत्री के पूजन से मिलता है " सुख और समृद्धि का आशीर्वाद "
Gayatri Jayanti 2021 : माता गायत्री के पूजन से मिलता है ” सुख और समृद्धि का आशीर्वाद “

Gayatri Jayanti 2021 : शुभ फलों को पाने का दिन होता है गायत्री जयंती –

गायत्री जयंती के दिन यदि कोई भक्त माता गायत्री (gayatri maa) की सच्चे मन से पूजा करता है तो मां भी उसकी मनोकामना जरूर पूरी करती है। इन्ह्ने ब्रम्हा जी की पत्नी भी कहा गया है। इनकी पूजा करने से घर में सुख और समृद्धि भी आती है।

हिन्दू धर्म में यह भी माना जाता है कि तुलसी माता की पूजा के वक्त माता गायत्री के मन्त्र (Gayatri Mantra)

gayatri mantra in hindi : ॐ भूर् भुवः स्वः।तत् सवितुर्वरेण्यं।भर्गो देवस्य धीमहि।धियो यो नः प्रचोदयात् ॥

का जाप जरूर करना चाहिए। इसके अलावा प्रतिदिन यदि इस मन्त्र का विशेष रूप से जाप किया जाए तो जीवन में आने वाली तमाम तरह की बाधाओं से मुक्ति मिलती है और सभी संकटों का नाश होता है।

कर्ज से मुक्ति मिलती है और घर की आर्थिक स्थिति भी मजबूत हो जाती है। हिन्दू धर्म में बहुत से घरों में लोग गायत्री यज्ञ भी करवाते हैं। जिससे घरों में गायत्री मंत्र (gayatri mantra) के गूंजने से सभी नकारात्मक शक्तियां भी बेअसर हो जाती है और सकारात्मक शक्ति का संचार होता है।

Gayatri Jayanti 2021 : माता गायत्री के पूजन से मिलता है " सुख और समृद्धि का आशीर्वाद "
gayatri ma

Gayatri jayanti time : गायत्री जयंती का समय

इस बार गायत्री (gaytri) जयंती आज रविवार को शाम 4 :21 मिनट पर शुरू हो रहा है और कल मध्यान्ह में 1 :30 बजे समाप्त हो जाएगा। गायत्री माता वेद माता के रूप में भी पूजी जाती हैं।

दुनिया में जितने भी अच्छे कार्य होते हैं, वह सब माता गायत्री के प्रताप से ही होते हैं। माता गायत्री के पूजन का इतना अधिक महत्व होता है कि इन्ह्ने ब्रम्ह, विष्णु और महेश भी सम्मान देते हैं। माता गायत्री को दुर्गा, लक्ष्मी और सरस्वती के रूप में भी पूजा जाता है।

Gayatri Jayanti 2021 : माता गायत्री के पूजन से मिलता है " सुख और समृद्धि का आशीर्वाद "
Gayatri maa

Importance of gayatri jayanti : गायत्री पूजा का महत्व –

हिन्दू घरों में जब सुबह- सुबह गायत्री (gayatri ma) मंत्र से गूंजते है तो सभी व्यक्तियों के मन में एक सकारात्मक शक्ति का संचार होता है और लोग अपने कार्यों को अच्छे तरीके से सम्पन्न करा पाते हैं।

अथर्ववेद में गायत्री माता की महिमा का विशेष रूप से वर्णन है। गायत्री माता (gayatri matha) अपने भक्तों के साथ हमेशा बुरे समय में अपने आशीर्वाद से उनकी रक्षा करती है। उन्हें कभी किसी चीज का भय नहीं होता है और वे स्वच्छंद होकर सभी कार्यों को सफलतापूर्वक करने में सफल हो जाते हैं।

gayatri mata photo & Gayatri Mantra

gayatri mantra
gaytri mata images

gayatri jayanti 2020 date : गायत्री जयंती पिछले वर्ष 2 जून 2020 को मनाया गया था। तिथि और समय के अनुसार gayatri jayanti 2020 मनाया गया था

gayatri1

gayatri mata photo

READ THIS ALS : Happy Father’s Day 2021 : पिता है तो जन्नत हैं , खुदा की दी हुई नेक रहमत है

Read This Also : Gayatri Jayanti News जगह जगह हवन पूजन और अनुष्ठान

गायत्री जयंती का महत्व कुछ जगहों पर 2 दिन रहता है , आपको बता दे की गायत्री जयंती, गंगा दशहरा के अवसर पर गायत्री परिवार द्वारा विभिन्न संस्कार का निःशुल्क आयोजन एवं वृक्षारोपण किया गया।

रायपुर : 20 जून, रविवार को गायत्री जयंती, गंगा दशहरा एवं अखिल विश्व गायत्री परिवार के संस्थापक पंडित श्रीराम शर्मा आचार्य की पुण्यतिथि के अवसर पर गायत्री परिवार के परिजनों द्वारा विविध प्रकार के कार्यक्रमों का आयोजन किया ।

रायपुर जिला समन्वयक श्री लच्छुराम निषाद ने बताया कि रायपुर जिला के सभी शक्ति पीठ प्रज्ञा पीठ एवं प्रज्ञा मंडलों में गायत्री जयंती के अवसर पर 19 जून की प्रातः से 24 घंटे का गायत्री मंत्र के अखंड जप का कार्यक्रम रखा गया ,

जो 20 जून को  गायत्री यज्ञ की पूर्णाहुति के साथ संपन्न हुआ। इस अवसर पर 20 जून को यज्ञ के पूर्व विभिन्न प्रकार के संस्कार भी निःशुल्क संपन्न कराए गए।

जिसमें प्रमुख रुप से गायत्री मंत्र की दीक्षा, मुंडन, कर्णक्षेदन, यज्ञोपवित (उपनयन), विद्यारंभ, पुंसवन, संस्कार सम्पन्न हुआ। गायत्री यज्ञ के उपरांत गायत्री परिजनों के द्वारा अलग अलग स्थानों में वृक्षारोपण भी किया गया।

0

Leave a Reply

x
%d bloggers like this: