Friday, July 23rd, 2021

HEALTH TIPS : शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए काढ़ा का उत्तम प्रयोग

शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए काढ़ा का उत्तम प्रयोग

HEALTH TIPS : नई दिल्ली ,(न्यूज़ हसल इंडिया)
आज के समय में कोरोना एक ऐसा बड़ा रोग बन चूका है। जिसने लोगों का ज़िंदगी में केवल परेशानियों का समुन्दर लाकर रख दिया है। इससे ना केवल मनुष्य को शरीरीरिक कष्ट अपितु आर्थिक रूप से नुकसान भी पहुंचा है। आज हम इस कठिन रोग से लड़ने एक आयुर्वेदिक उपाय के बारे में आपसे चर्चा करने जा रहे हैं जो न केवल घरों में आसानी से बनाया जा सकता है। इससे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बधाई जा सकती है।

काढ़ा को अच्छी तरह उपयोग करने से सर्दी-जुकाम तथा गले में खराश की समस्या से भी निजात पाया जा सकता है। इसके अतिरिक्त पीपल, सोंठ के पावडर और काली मिर्च इन तीनों मिलाकर तैयार किये गए चूर्ण को 3 – 4 तुलसी पत्ते के साथ 1 लीटर पानी में उबालना चाहिए। इसे तब तक उबालना चाहिए जब तक पानी आधा ना रह जाए इसके पश्चात इस काढ़े को 3 से 4 बार पीना चाहिए। यह काढ़ा मनुष्य की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है तथा किसी भी बीमारी से लड़ने में अच्छी तरह मदद करता है। इसके अतिरिक्त आयुर्वेद में पीपल पेट दर्द तथा चेहरे के निशान को हटाने के लिए भी किया जाता है। काली मिर्च का प्रयोग किचन में मसालों के रूप में तो होता है इसके अतिरिक्त काली मिर्च में एंटीऑक्सीडेंट होते हैं जो इम्यून सिस्टम को स्ट्रांग करने में काफी मदद करते हैं। यह गले की खराश तथा गले में दर्द , टॉन्सिल की समस्या में भी काफी निजात दिलाता है।

Leave a Reply

x
%d bloggers like this: