Tuesday, June 22nd, 2021

आपदा को अवसर में इस तरह बदले , धन की होगी वृद्धि

आपदा को अवसर में इस तरह बदले , धन की होगी वृद्धि

रायपुर,(प्रियंका घाटगे, न्यूज़ हसल इंडिया),

लॉकडाउन से हो गए है बोर तो हो जाए तैयार एक नए जोश के साथ क्योंकि जीना इसी का नाम है। हर रोज केवल वही ज़िंदगी जी कर बोर हो गए हैं तो क्यों ना घर पर हम कुछ ऐसा करें कि हम अपने लिए कुछ नया करने की कोशिश करे। एक समय था जब सभी के पास केवल एक ही लाइन हुआ करती थी। हमारे पास टाइम नहीं है। अब टाइम है तो हम क्यों ना हर दिन को ऐसे जीए कि जीवन की हर कठनाई में भी अपनों के प्यार के ताकत से मनोबल मिलता रहे और हमारी मानसिक और शारीरक शक्ति बढ़ती रहे। इसके लिए हम चाहे तो हमारे घर को फिर से व्यस्थित तरीके से जमा सकते है ।

घर की साफ- सफाई कर सकते हैं। घर पर पड़ी पुरानी चीजों से बेस्ट आउट ऑफ़ वेस्ट भी बना सकते हैं। इससे हमारी क्रिएटिविटी भी बढ़ेगी और हमें जिस काम में रूची है, हो सकता है उस काम में हम अपने आपको और अच्छी तरह समय देकर आने वाले समय में अपने काम को पेशों में बदलकर अच्छी अर्निंग कर सकते हैं। जिससे हमारी आर्थिक स्थिति भी मजबूत बनेगी। हम ये जरूर जानते हैं कि आज का दौर दुखों का दौर है। यह बात भी सत्य है कि हर अंधेरे के पीछे उजाले की किरण भी होती है। कोरोना को एक दिन हारना ही होगा और ज़िंदगी जीतेगी जरूर।

उस सुनहरी ज़िंदगी के लिए आओ हम एक फिक्स्ड डिपॉजिट की तरह अपने सारे सपनों को समय दे कि आने वाले समय कोई रंजिश ना रहे कि काश समय होता तो मैं अपने इच्छाओं के लिए वक्त निकल पाती या पाता। अपने हर इच्छाओं को पूरा करे । बुक्स रीडिंग करना चाहे तो वह करे या आईने के सामने खड़े होकर खुद को अच्छी तरह निहारने की इच्छा हो तो वह भी करें कि कही मैं बूढ़ी तो नहीं हो गई,बूढ़ा तो नहीं हो गया। यदि ऐसा हो तो नो टेंशन पुराने ख़यालों को छोड़िये पीछे और बिंदास सज सवरकर एक बार अपने घर के आंगन या छत पर जाकर उन चिड़ियों और पंछियों को देखिये जो आसमान में उड़कर भी लोगों का दिल जीत लेते हैं। उससे आपको बेहद ही ख़ुशी मिलेगी। मानसिक तनाव है तो आध्यात्मिक पुस्तकों और अन्य हास्य जोक्स को पढ़कर खुद भी हासिये और परिवार को भी हसाईये। जीवन में मुस्कुराहट ही एक ऐसी चीज़ है जो फूलों की खुश्बू की तरह पुरे परिवार के चेहरे को सुनहरा बागबान बना सकती है।

Leave a Reply

x
%d bloggers like this: