Ayodhya: पीएम सहित आठ हजार से अधिक मेहमानों को निमंत्रण, न्योता में सर्व धर्म समभाव की झलक

newshustleindia.com
5 Min Read
Ayodhya: पीएम सहित आठ हजार से अधिक मेहमानों को निमंत्रण, न्योता में सर्व धर्म समभाव की झलक

150 से ज्यादा साधु संत,साहित्यकार, मठ मंदिरों के न्यासी पुजारी भक्त ये सब शामिल हैं ।

Ayodhya: भगवान राम के ससुराल अर्थात नेपाल जनकपुरी से संत समाज के मुख्याओं को निमंत्रित किया गया है । समाजों के प्रमुखों को भी आमंत्रित किया है । अर्थात समाज के बंधु बांधव जिसमें भारतीय मत पंथों के प्रमुख लोग सिख, बौद्ध जैन समाज को आमंत्रण भेजा गया है । एक खास बात है बड़ा हो या छोटा,अमीर हो या गरीब ,किसी भी जाति धर्म का हो बिना किसी भेदभाव के सहृदयता से आमंत्रित किया गया है ।

Ayodhya: सर्व धर्म समभाव का पूरा ध्यान रखा गया है ।

यहां तक कि जनजाति समाज,घुमंतू जाति,अनुसूचित समाज के प्रमुखों को बुलाया गया है । मीडिया को भी अनछुआ नहीं किया गया है । मीडिया में प्रसिद्ध समाचार पत्रों ,प्रमुख चैनलों के मालिक अथवा संपादकों को भी आमंत्रण भेजा गया है ।

Ayodhya: जिन् लोगों को भारत सरकार ने विभिन्न सम्मानों से नवाजा है उनको भी बड़ी लंबी सूची है ।

नोबल पुरस्कार विजेता, भारत रत्न,परमवीर चक्र ,पद्म सम्मान से सम्मानित हस्तियों अथवा उनके परिवार को भी आमंत्रण भेजा गया है । तीनों सेनाओं के सेवा निवृत्त सेना अध्यक्ष , सेवा निवृत मुख्य न्यायाधीश, पूर्व राजदूत, विभिन्न ओहदों पर सेवाएं देने वाले

आईएएस आईपीएस , बुद्धिजीवी,साहित्यकार,कवि,लेखक,कथाकार, शिक्षाविद,इतिहासकार,खिलाड़ी,किसान,मजदूर,देश के राजनीतिक दलों के अध्यक्ष,कलाकार, अयोध्या के जनप्रतिनिधि, उद्योगपति और उद्यमी के साथ पचास देशों से भारतीय समाज के 55 से ज्यादा जनप्रतिनिधि भी आमंत्रित हैं । लेकिन खास सूचना यह है की राज्य उत्तरप्रदेश से

Ayodhya: मुख्यमंत्री को छोड़कर अभी किसी को निमंत्रण नहीं है ।

किसी भी प्रदेश के मंत्री को उनके मंत्री होने की हैसियत से नहीं बुलाया गया है । पर कुछ सीमित प्रमुख व्यक्ति परिचय की वजह से आएंगे । अतिथियों के लिए सर्व सुविधायुक्त अस्थाई टेंट सिटी बनाई गई है जहां निमंत्रित अतिथियों को ठहराया जाएगा ।

Ayodhya: इनके भोजन आवास की पूरी व्यवस्था ट्रस्ट की ओर से की गई है ।

यहां बहुत से भक्त अपने अपने ढंग से अपनी हैसियत के मुताबिक विभीन्न वस्तुएं भेंट भी कर रहें हैं। एक किसी व्यक्ति ने विशाल दीपक बनाकर दान किया है जिसमे 500 किलो तेल आयेगा और यह दीपक पूरा अनवरत एक माह तक जल सकेगा ।

Ayodhya: इसी तरह कल 500 किलो का एक विशाल रथ से एक नगाड़ा आया है ।

गुजरात विश्व हिंदू परिषद के क्षेत्र मंत्री अशोक रावल ने यह नगाड़ा स्वीकार करने का अनुरोध किया है । ट्रस्ट के सचिव ने नगाड़ा स्वीकार करते हुए नगाड़ा उचित स्थान पर स्थापित करने का आश्वासन दिया है । नगाड़ा में सोने वा चांदी की परत चढ़ाई गई है ।

Ayodhya: इसके ढांचे में लोहे और तांबे की प्लेट का उपयोग किया गया है।

इसका निर्माण डब गर समाज ने किया है । नगाड़ा हिंदू संस्कृति के प्रतीक के रूप में जाना जाता है । इसका निर्माण कर्णावती महानगर के दरियापुर में किया गया है । यह जानकारी नगाड़ा लेकर आए चिराग पटेल ने मीडिया को दी है ।

अयोध्या में आवागमन को तत्काल सुलभ करने के लिए विशाल एयरपोर्ट भी बना लिया गया है ताकि देश विदेश से दर्शनार्थी सीधे अयोध्या पहुंच सके । अभी हाल ही में दिल्ली से अयोध्या विमान सेवा शुरू हुई है । अब कल से गुजरात अहमदाबाद से भी अयोध्या के लिए विमान सेवा शुरू हो गई है ।

Ayodhya उत्तरप्रदेश का चौथा अंतर राष्ट्रीय हवाई अड्डा है ।

22 जनवरी को प्राण प्रतिष्ठा के दिन कम से कम 100 चार्टर्ड विमान यहां उतरेगा । विगत 30 दिसम्बर को ही अयोध्या रेलवे स्टेशन और हवाई अड्डे का उद्घाटन पीएम द्वारा हुआ है । अयोध्या के हवाई अड्डे का नाम महर्षि बाल्मीकि अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा रखा गया है ।

Share This Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *