National : पीएम मोदी ने लिया अंदल हाथी से आशीर्वाद, जन कल्याण के निमित्त कठिन उपासना का दौर

News Hustle India
4 Min Read
Ayodhya Live: रामलला की नयनाभिराम मूर्ति देख उल्लास का सागर उमड़ पड़ा, कमलदल पर आशीर्वाद की मुद्रा से मन खिल उठा

सामान्य लोग जीवन के उद्देश्यों की प्राप्ति के निमित्त कुछ साधना या उपासना करे तो कोई चर्चा नहीं होती पर देश का कोई जिम्मेदार ओहदे पर बैठे व्यक्ति यदि कुछ करे तो उसकी चर्चा पूरी दुनिया में होती है। आज यही बातें पीएम मोदी के साथ लागू हो रही है । राम मंदिर के निमित्त उनके द्वारा की जा रही उपासना या व्रत लोगों के चर्चा के केंद्र में है । एक सौ चालीस करोड़ जनता के मुखिया होने के नाते उनके कल्याण के लिए पीएम मोदी राम मंदिर के नाम ग्यारह दिन का वैसा ही कठोर व्रत कर रहें हैं जैसा सिद्ध पुरुष साधु संत करते हैं । उनकी दिन चर्या इन दिनों भक्ति के विशेष परिदृश्य में चल रही है । आजकल वे सुबह ब्रम्ह मुहूर्त में उठकर स्नान करते हैं और पूरे एक घंटे ग्यारह मिनट पूजा पाठ करते हैं । इसके साथ ही वे दान करते हैं । गौ सेवा करते हैं । रात में जमीन पर कंबल बिछाकर सोते हैं । इतने बड़े ओहदे पर रहकर भी वे पूरे सुख सुविधा को त्याग कर भारत की जनता के कल्याण के लिए व्रत कर रहें हैं । वे भोजन पानी भी त्याग दिए हैं और मात्र नारियल पानी से दिन गुजार रहें हैं । बावजूद वे अपना काम उतनी ही ऊर्जा से कर रहें हैं जैसा वे हमेशा करते रहें हैं । साधना या उपासना से उनके काम के घंटों में कोई अंतर नहीं आया है । सारे महत्वपूर्ण काम वे रोज निपटा रहें हैं । इसके अलावा वे राम के प्रसंगों से जुड़े मंदिरों का दर्शन भी कर रहें हैं । कल उन्होंने रामेश्वरम में डुबकी लगाई । फिर तमिलनाडु के रंगनाथस्वामी मंदिर में जाकर दर्शन कर पूजा अर्चना की । वहां अंदल नाम के हाथी को गुड़ खिलाया और उससे आशीर्वाद लिया। अपने इस व्रत के दिनों में वे घर पर या और कहीं नित्य गौ सेवा कर रहें हैं । दान कर रहें हैं ।चिड़ियों को दाना खिला रहें हैं । जहां पर जैसी भी सेवा हो सके बराबर पीएम मोदी कर रहें हैं । पीएम मोदी बहुत ही कठिन यम नियमों का पालन कर रहें हैं। 22 जनवरी को भगवान राम की अयोध्या में प्राण प्रतिष्ठा है और वे चाहते हैं कि राम मंदिर का यह पांच सौ साल का सपना निर्विध्न निपट जाए । इन दिनों अब अयोध्या एनएसजी और एसपीजी कमांडों के अधीन है ताकि किसी प्रकार की कोई गड़बड़ी या असुरक्षा की घटना न हो सके । सभी की सुरक्षा के दृष्टि कोण से यह तैनाती हुई है । 22 तारीख को पीएम मोदी सरयू नदी में स्नान करेंगे और वहां से जल लेकर पैदल राम मंदिर जायेंगे और पूजा अर्चना करेंगे । उसी दिन रामलला की मूर्ति में आंखों में बंधी पट्टी मंत्रोच्चार के साथ खुलेगी और राम लला के सम्पूर्ण दर्शन हो सकेंगे । आज से आम लोगों के उल्लास को देखते हुए मंदिर में उनकी इच्छा के अनुकूल वातावरण बनाया गया है किंतु भीड़ की वजह से 23 तारीख से ही मंदिर आम लोगों के लिए खुलेगा । 22 तारीख को केवल निमंत्रित लोग ही मंदिर में रहेंगे । गर्भगृह में केवल पांच लोग ही रहेंगे जिनमे व्रती पीएम मोदी शामिल हैं । आरएसएस के प्रमुख मोहन भागवत रहेंगे । राज्यपाल आनंदीबेन रहेंगी । सीएम योगी आदित्यनाथ रहेंगे और यजमान ट्रस्टी भी रहेंगे । आठ हजार वीआईपी लोगों को आमंत्रित किया गया है। जिसमें,राजनीतिक ,सामाजिक,कलाकार उद्योगपति ,साधु संत शामिल हैं । मुकेश अंबानी अमिताभ बच्चन भी आएंगे ।

TAGGED:
Share This Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *