Chhattisgarh: खुल गया दानी स्कूल का पिछला रास्ता , हर नेता इसे समझते हैं अपना वोट बैंक

News Hustle India
3 Min Read
Chhattisgarh: खुल गया दानी स्कूल का पिछला रास्ता , हर नेता इसे समझते हैं अपना वोट बैंक

Chhattisgarh: रायपुर बूढ़ातालाब किनारे श्याम टाकीज दुर्गा मंदिर के बाजू से चांदनी चौक को जाने वाली सड़क अब खोल दी गई है ।

Chhattisgarh: इससे जगन्नाथ राव दानी स्कूल और महिला महाविद्यालय के हजारों छात्राओं को राहत मिली है । भाजपा की नई सरकार बनते ही शिक्षा मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने इस पर संज्ञान लिया और तत्काल छात्राओं को सहूलियत पहुंचाने यह रास्ता उन्होंने खुलवाया है । दरअसल यह रास्ता पहले भी था ।

Chhattisgarh: दानी कन्या स्कूल और महिला महा विद्यालय का यह पिछला रास्ता पड़ता है

इस रास्ते से प्रति दिन दो हजार से ज्यादा छात्र छात्राएं आना जाना करती हैं । इसके साथ ही पास के स्कूल कालीबाड़ी और गुरुकुल विद्यालय ,महंत कालेज के छात्र भी क्रास करते हैं ।अधिकांश छात्राएं सायकल से ही स्कूल आती जाती हैं ।

फिर आम लोग भी इस रास्ते से चांदनी चौक पुलिस लेन वाले राहगीर रोज आते जाते थे इससे सप्रे शाला बिजली चौक का यातायात दबाव भी कम हो गया था । इसलिए यह रास्ता बनाया गया था । किंतु जब 2018 में कांग्रेस सरकार आई तो यह रास्ता बंद करके इसे उद्यान बना दिया गया ।

Chhattisgarh: एजाज ढेबर महापौर की अगुआई में यह रास्ता बंद किया गया ।

उनको छात्रों की तकलीफें नजर नहीं आई और अपना काम दिखाने के लिए इसे उद्यान बना दिया गया जबकि बूढ़ा तालाब के बीच में पहले से विवेकानंद उद्यान है ।

लेकिन उसे बंद करके यह नया उद्यान विकसित कर दिया गया जिसकी अभी कोई जरूरत ही नहीं थी । दुर्भाग्य से इस सड़क पर शुरू से ही राजनीति चल रही है जब तरुण चटर्जी महापौर थे । हर नेता इस सड़क को अपना वोट बैंक समझ बैठते हैं ।

अब नए शिक्षा मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने छात्रों को होने वाली मुसीबत के चलते इस सड़क को खुलवाया और उद्यान के हिस्से को अलग कर दिया । अब उद्यान भी है और सड़क भी है ।

Chhattisgarh: अब छात्रों और आम लोगों को भी इस रास्ते के खुल जाने से राहत मिली है ।

वो अब पहले की तरह आवागमन कर रहें है इससे बिजली चौक कालीबाड़ी चौक पर ट्रैफिक का दबाव कम हुआ है । बंद रहने से छात्रों को डेढ़ दो किलो मीटर घूमकर शाला जाना पड़ता था

तथा उनको ट्रैफिक वाली सड़क पर दुर्घटना का शिकार भी होना पड़ता था । इस सड़क से छात्राएं सुरक्षित आना जाना कर सकती हैं । यह बहुत संतोष की बात है ।

TAGGED:
Share This Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *