Income Tax : एडवांस टैक्स जमा करने की अंतिम तिथि 15 मार्च तक, विभाग से हुई गड़बड़ी, जाने अब आगे क्या करना है

newshustleindia.com
3 Min Read
Income Tax : एडवांस टैक्स जमा करने की अंतिम तिथि 15 मार्च तक, विभाग से हुई गड़बड़ी, जाने अब आगे क्या करना है

Income Tax: इनकम टैक्स डिपार्टमेंट यानी आयकर विभाग से एक मैसेज सर्कुलेट हुआ है जिसमे एडवांस टैक्स जमा करने की भरी भरकम रकम के साथ लोगों को मैसेज जा रहा है ऐसे में घबराये नहीं , क्योंकि आयकर विभाग ने सचेत किया है की अगली नोटिफिकेशन जारी होने तक इंतजार करे,

अगर आपको भी इनकम टैक्स (Income Tax) डिपार्टमेंट से मैसेज आया है तो ज्यादा हड़बड़ाने वाली बात नहीं है आयकर विभाग ने अगले अपडेट आने तक सैयम बनाये रखने को कहा है।

आयकर विभाग के अनुसार वार्षिक सूचना विवरण (एआईएस) में कुछ वित्तीय लेनदेन की गलत रिपोर्टिंग के कारण एक त्रुटि सामने आई है जिसे जल्द ही सुधारा जायेगा।

Income Tax : क्या है पूरा मामला?

आयकर विभाग की ओर से करदाताओं को चालू वित्त वर्ष के दौरान किए गए वित्तीय लेनदेन के अनुसार टैक्स के भुगतान के लिए एक अभियान की शुरुआत की गई।

हालांकि विभाग की ओर से इसके लिए जो एआईएस जारी किया उसमें गड़बड़ी की खबरें आनी लगी और स्क्रीनशॉट सोशल मीडिया पर वायरल होने लगे।

इसके एक दिन बाद विभाग ने करदाताओं को सलाह दी है कि वे आंकड़ों के अपडेट होने का इंतजार करें। अग्रिम कर के लिए शुरू ई-अभियान के दौरान

करदाताओं से मिली प्रतिक्रिया के आधार पर विभाग ने प्रतिभूति बाजार (एसएफटी-17) के आंकड़ों में कुछ गड़बड़ियों की पहचान की है।

एआईएस के आंकड़ों में क्या गड़बड़ी सामने आई?

आयकर विभाग की ओर से जारी एआईएस के आंकड़ों में कुछ अतिरिक्त शून्य दिख रहे थे।

चार्टर्ड अकाउंटेंट चिराग चौहान ने सोशल मीडिया पर एक स्क्रीनशॉट शेयर करते हुए लिखा था कि शेयरों की बिक्री से जुड़े कई मामलों के आंकड़ों में दो अतिरक्त शून्य दिख रहे थे।

आईटीसी के 450 रुपये के शेयरों का बिक्री भाव बिक्री 45,000 लिखा गया था। वहीं 1.2 करोड़ रुपये की संपत्ति को एआईएस में 12 करोड़ रुपये के रूप में दिखाया गया था।

इस तरह इन त्रुटिपूर्ण आंकड़ों के कारण कई करदाताओं को अनावश्वक रूप से भारी-भरकम कर देनदारी बनती है। एक अन्य अधिकारी ने कहा कि डेटा की जांच की गई थी,

और परीक्षण चलाने के दौरान गड़बड़ियां दिखाई नहीं दीं। हालांकि  विभाग ने कहा है कि समस्या जल्द से जल्द ठीक हो जाएगी, इसके लिए “युद्ध स्तर” किए जा रहे हैं।

अग्रिम कर की चौथी और अंतिम किस्त शुक्रवार तक भुगतान की जानी है और अधिकारियों को उम्मीद है कि यह मुद्दा जल्द ही सुलझ जाएगा।

Share This Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *