Cg Big News: महादेव सट्टा एप मामले में अपने उपर हुए एफआईआर पर पूर्व सीएम भूपेश बघेल ने लिया प्रेस कांफ्रेंस और बताया कि यह मेरे उपर राजनीतिक एफआईआर है

News Hustle India
2 Min Read

रायपुर, पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने मुझे राजनांदगांव से प्रत्याशी बनाया है. महादेव एप का जिन्न फिर से बाहर आया है. खबर छपि है कि मुझ पर एफआईआर हुआ है. एफआईआर 4 मार्च को हुआ. 17 मार्च को प्रकाशित हुआ. 13 से 14 दिनों बाद इसे ऑनलाइन क्यों एफआईआर को डाला गया. महादेव एप को लेकर 72 एफआईआर दर्ज किया गया. 400 से अधिक लोग गिरफ्तार हुए. कड़ा कानून बनाने बिल भी लाया. देश भर में महादेव ऐप चला पर कार्रवाई सिर्फ छत्तीसगढ़ में हुआ. रवि उप्पल सौरभ चंद्राकर पर लूक आउट नोटिस जारी किया गया. कहानी में ट्वीस्ट लाने शुभम सोनी का वीडियों भाजपा कार्यालय से जारी किया गया.पूर्व सीएम ने कहा कि दिल्ली से एक खबर छपी एफआईआर में मेरा भी नाम है. अगर थाने में या ईओडब्ल्यू में एफआईआर दर्ज हो तो उसी दिन वेबसाइट में उसे डाल दिया जाता है. 4 मार्च को एफआईआर की कॉपी है. आज 17 तारीख को दिल्ली से इसे प्रकाशित किया जाता है. 13,14 दिन तक क्या करते रहे? इस एफआईआर को वेबसाइट में क्यों नहीं डाला गया? सरकार में रहते हुए 2022 में हमने पहला एफआईआर दर्ज किया था. 450 से अधिक गिरफ्तारियां हुई थी. 2022 में ही जुआ अधिनियम था. उसे कड़ा बनाने बिल लाकर पारित भी किया और लागू किया गया. रवि उपल और सौरभ चंद्राकर के खिलाफ लुक आउट सर्कुलर भी जारी किया लेकिन केंद्र सरकार ने गिरफ्तारी नहीं हुई. असीम दास के पास जिस गाड़ी से पैसा पकड़ा जाता है वो बीजेपी नेता के रिश्तेदार की गाड़ी है. विधानसभा अध्यक्ष के साथ असीम दास की फोटो है. यह राजनीतिक एफआईआर है. दबावपूर्वक मेरा नाम एफआईआर में डाला गया है.

TAGGED:
Share This Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *