Cg Raipur News : शिष्य ऊंचाई पहुंचे यह हमारा गर्व, 50 साल बाद मिले कालीबाड़ी के छात्र और शिक्षक

News Hustle India
2 Min Read



रायपुर 31 मार्च ,किसी का चेहरा बदला था, तो किसी के बाल ही गायब हो गए। कोई आईडी कार्ड देखकर दोस्त को पहचान रहा था, तो कोई किसी के चिरपरिचित अंदाज को देखकर ठहाके लगा रहा था। यह नजारा आज तब दिखाई दिया जब कालीबाड़ी स्कूल के 1973-74 बैच के सहपाठी पचास साल बाद फिर मिले। इस पारिवारिक मिलन समारोह में सभी मित्रों के परिवार भी एक-दूसरे से आनंद और उल्लास के साथ आपस में मिल रहे थे। समारोह में उपस्थित गुरूजनों में रॉय सर, आठवें सर तथा बैनर्जी और भागवत सर भी इन अविस्मरणीय पलों के सहभागी बने। गुरूजन इस बात पर प्रसन्न थे कि उनके द्वारा शिक्षीत-दीक्षित छात्रों ने आज ऊंचा मुकाम हासिल किया है। उन्होंने सबसे व्यक्तिगत पूछताछ कर पारिवारिक हालचाल पूछा।
समारोह की शुरुआत सरस्वती पूजा से की गई। स्कूल की प्रार्थना ” या कुंदेंदु तुषार हार धवला” का गायन विवेक केलकर, अरुण काठोटे, सुधीर मिश्रा, नरेन्द्र श्रीवास्तव तथा सुनील गनोदवाले ने किया। कार्यक्रम में उपस्थित गुरूजनों का सम्मान अमरजीत बक्शी, आनंद सुराना, राजेन्द्र खंडेलवाल, सुजीत सन्याल, जगदीश मोटवानी, आशीष दास गुप्ता द्वारा शॉल-श्रीफल तथा स्मृति चिन्ह भेंट कर किया गया। इस अवसर पर कालीबाड़ी के सीनियर छात्र, पूर्व आईएएस गणेश शंकर मिश्रा भी मंचस्थ थे। सभी शिक्षकों ने पचास साल पहले की शिक्षा और अनुशासन को रेखांकित किया तथा छात्रों की उपलब्धि पर प्रसन्नता व्यक्त की।
इसके बाद उपस्थित छात्रों ने अपना परिचय दिया तथा नौकरी व पेशे बाबत जानकारी दी। परिचय सत्र के बाद सबने दोपहर भोजन किया। इसके पश्चात मनोरंजक गेम्स तथा गीत-संगीत का सबने लुत्फ उठाया। मिलन समारोह में शहर के बाहर से भी छात्र आए थे। कार्यक्रम का संचालन प्रकाश लुनावत ने तथा आभार प्रदर्शन आनंद सुराना ने किया। मिलन समारोह में पचास से अधिक छात्र शामिल हुए।

TAGGED:
Share This Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *