Friday, October 22nd, 2021

International Yoga Day 2021 : अंतरराष्ट्रीय योग दिवस जीवन को स्वस्थ व अनुशासित करने की अदभुत कला

International Yoga Day 2021 : आज 21 जून यानी अंतरराष्ट्रीय योग दिवस है । पूरे विश्व में यह अपने स्वस्थ जीवन की आस संजोने कलिये बड़े आत्मबल से मनाया जाता है । यह दुनिया का पहला ऐसा कोई मिशन है जिसमें तामझाम की जरूरत नहीं होती और लोग बिना किसी प्रचार के भी योग साधना में तल्लीन होने सुबह से इकट्ठा हो जाते हैं ।

International Yoga Day : योग की उत्पत्ति

योग मानव जीवन के अनन्तकाल का हमसाथी है । हमारे धर्मग्रन्ध में भी योग साधना का विस्तृत विवरण है । साधु ज्ञानी तपस्वी अपनी यकग साधना के बलबूते विभिन्न असयमों व दुर्गम साधनों के बीच जीवन मे निखार लाये हैं ।

उनके स्वास्थ्य ही नही बल्कि अदभुत ज्ञान के पीछे भी योग का समावेश रहा है । अष्टम चेतना को पुष्ट व समृद्ध करने में योग का महत्वपूर्ण स्थान रहा है । योग शब्द की उत्पत्ति संस्कृत धातु ‘यूज’ से हुई है जिसका अर्थ निजि चेतना से होता है ।

और आपकों बताएं योग के जनक महर्षि पतंजलि ही हैं जिन्होंने आस्था,धर्म,कर्मकांड,अंध विश्वास से परे योग की अलग व्याख्या प्रतिपादित किया । वैसे योग का इतिहास 26 हजार साल पुराना है लेकिन वैश्विक औपचारिक तौर पर योग दिवस को अब यानी 2015 से मनाने का संकल्प लिया गया ।

International Yoga Day 2021 : अंतरराष्ट्रीय योग दिवस जीवन को स्वस्थ व अनुशासित करने की अदभुत कला
International Yoga Day 2021 : अंतरराष्ट्रीय योग दिवस जीवन को स्वस्थ व अनुशासित करने की अदभुत कला

International Day of Yoga : संयुक्त राष्ट्र में भारत के प्रधानमंत्री मोदी का प्रस्ताव

प्रधानमन्त्री मोदी ने अपने पहले ही कार्यकाल में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाने का प्रस्ताव लाया । 2014 में 27 सितंबर को संयुक्त राष्ट्र महासभा के भाषण में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाने का प्रस्ताव लाया ।

International Yoga Day 2021 : अंतरराष्ट्रीय योग दिवस जीवन को स्वस्थ व अनुशासित करने की अदभुत कला
International Day of Yoga : संयुक्त राष्ट्र में भारत के प्रधानमंत्री मोदी का प्रस्ताव

फिर यह प्रस्ताव 90 दिनों के भीतर 177 देशों की सहमति से पारित हुआ । संयुक्त राष्ट्र महासभा में यह पहला प्रस्ताव रहा जो सबसे कम दिनों के भीतर स्वीकार किया गया । प्रधानमंत्री मोदी को इसका जितना भी श्रेय दिया जाए कम है

First International Yoga Day : पहला योग दिवस का संकल्प

संयुक्त राष्ट्र महासभा में पास होने के बाद विश्वस्तर पर पहला अंतरराष्ट्रीय योग दिवस 2015 में 21 जून को मनाया जाने तय हुआ । फिर क्या था पूरी दुनिया ने 2015 को 21 जून को बड़े उत्साह से योग दिवस मनाया ।

योग के प्रति लोगों का दुनिया मे इतना जबरदस्त उत्साह दिखा कि 2015 के बाद से यह लोगों के जीवन के दिनचर्या में समा गया ।लोग अपनी सेहत के प्रति ऐसे सचेत हो गए हैं मानों अब किसी चिकित्सक के परे जाकर भी अपनी सेहत बना सकते हैं ।

100 1001698 yoga background
International Yoga Day 2021 : अंतरराष्ट्रीय योग दिवस जीवन को स्वस्थ व अनुशासित करने की अदभुत कला

International Day of Yoga 2021 – 21 जून ही क्यों ?

जेहन में यह बड़ा सवाल भी उठ रहा होगा आखिर योग के लिए 21 जून ही क्यों चुनी गई । दरअसल भारतीय  संस्कृति में 21 जून ही वो दिन जो वर्ष का सबसे बड़ा दिन माना जाता है । विज्ञान भी बताते हैं इस दिन सूर्य जल्दी उगता है और देर से डूबता है ।

ग्रीष्म संक्रांति के बाद जलवायु और भगोलिक परिवर्तन की दृष्टि से ही यह दिन उपयुक्त माना गया क्योकि इस दिन ग्रीष्म संक्रांति के बाद सूर्य दक्षिणायन हो जाता है । इसलिए प्रकृति की तरह ही जीवन को बदलने के प्रयास में 21 जून की अहम भूमिका है । यही कारण है कि 21 जून की तारीख चुनी गई ।

International Yoga Day 2021 : अंतरराष्ट्रीय योग दिवस जीवन को स्वस्थ व अनुशासित करने की अदभुत कला
International Yoga Day 2021 : अंतरराष्ट्रीय योग दिवस जीवन को स्वस्थ व अनुशासित करने की अदभुत कला

world yoga day 2021 : कोरोना ,योग और उपचार

कोरोना संक्रमण वायरस पिछले सवा साल से विश्व मे तांडव कर रहा है । भारत भी इसकी चपेट में है ।अब तक भारत में ही 3 लाख 85 हजार मौतें हो चुकी है और अभी कह नही सकते यह मौतें और कहाँ तक जाएगी ।

सभी भारत के वैज्ञानिक और चिकित्सकों की राय है कि कोरोना की तीसरी लहर भी 6 से 8 हफ्ते के बीच आ सकती है । अगर आ गई तो यह बच्चों के लिए बहुत घातक होगी । कोरोना की लड़ाई अभी जारी है ।

कोरोना ने केवल लोगो का जीवन नही लिया है बल्कि यह उनकी रोजी रोटी भी छीन लिया है । आज भी पूरे देश मे शैक्षणिक संस्थान बन्द पड़े हैं । बहरहाल जो भी हो कोरोना का योग से गहरा संबंध है ।

योग से शरीर स्वस्थ रहेगा तो व्यक्ति की इम्यूनिटी अर्थात प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है तो सारे रोग दूर ही रहते हैं । भारत में इसी के लिए ज्यादा से ज्यादा टीकाकरण पर जोर दिया जा रहा है । चिकित्सकों ने भी योग करने की सलाह दी है ।

International Yoga Day 2021 : अंतरराष्ट्रीय योग दिवस जीवन को स्वस्थ व अनुशासित करने की अदभुत कला
International Yoga Day 2021 : अंतरराष्ट्रीय योग दिवस जीवन को स्वस्थ व अनुशासित करने की अदभुत कला

yoga international day 2021 : निःशुल्क टीकाकरण, योग और बाबा रामदेव

कोरोना ने यद्यपि बड़े पैमाने पर टीकाकरण को अपनाने के लिए बाध्य किया है पर योग की साधना भी कोरोना लड़ाई में महतवपूर्ण कड़ी साबित हुई है।इसलिए देश मेआज से ही प्रधान मंत्री मोदी ने निःशुल्क टीकाकरण की शुरूआत भी की है ।

केवल बाबा रामदेव ही नही बल्कि चिकित्सक भी शरीर को स्वस्थ रखने योग की सलाह दे रहें हैं । जो योग को अंगीकार करेगा वह चिकिसकों से परे होकर भी स्वस्थ रह सकेगा ।

baba ramdev

योग से स्वस्थ आत्मा और जीवन का अनुशासन

योग केवल स्वस्थ रहने का माध्यम नही है बल्कि यह जीवन को बेहतर ढंग से जीने का अनुशासन भी सिखाता है । योग केवल शरीर को चारों दिशाओं में मोड़ लेने की कला नहीं बल्कि यह चेतना को पुष्ट और पवित्रता की प्रक्रिया तक ले जाता है ।

योग वाले व्यक्ति ही धैर्य ,संयम और अनुशासन के समावेश का अहसास दिलाते हैं । योग केवल स्वस्थ शरीर नहीं बल्कि स्वस्थ आत्मा भी देता है ।

Article By : Prerna Kale

Read This Also : Gayatri Jayanti 2021 : माता गायत्री के पूजन से मिलता है ” सुख और समृद्धि का आशीर्वाद “

Leave a Reply

x
%d bloggers like this: