Saturday, July 24th, 2021

Jeff Bezos Space Travel: स्पेस यात्रा पूरी कर धरती पर लौटे जेफ बेजोस, 11 मिनट की सैर के बाद दुनिया को मिले चार नए एस्ट्रोनोट्स

अमेजन के फाउंडर जेफ बेजोस (Jeff Bezos) ने मंगलवार शाम तीन अन्य लोगों के साथ अंतरिक्ष की सैर की. 11 मिनट की इस सैर पर बेजोस के साथ उनके भाई मार्क, मर्करी 13 एविएटर वैली फंक (Wally Funk) और 18 वर्षीय ओलिवर डेमेन (Oliver Daemen) मौजूद थे. यात्रा पूरी करने के बाद स्पेस कैप्सूल ने टेक्सास में लैंडिंग की. दुनियाभर की निगाहें इस अंतरिक्ष यात्रा पर टिकी हुई थीं, क्योंकि कुछ दिन पहले ही ब्रिटिश अरबपति रिचर्ड ब्रैनसन (Richard Branson) ने अंतरिक्ष की यात्रा की थी. ऐसे में माना जा रहा है कि दुनिया में अरबपतियों की स्पेस रेस शुरू हो गई है. हालांकि, इनका कहना है कि ये लोग स्पेस यात्रा को सबके लिए मुहैया कराना चाहते हैं.

बेजोस ने अपनी कंपनी ब्लू ऑरिजन (Blue Origin) के न्यू शेपर्ड लॉन्चिंग व्हीकल के जरिए अंतरिक्ष के लिए उड़ान भरी. इस दौरान स्पेस कैप्सूल के भीतर अरबपति को बैठे हुए देखा गया. वहीं, इस यात्रा के दौरान दो रिकॉर्ड बने, जिनके बनने की जानकारी पहले से ही लोगों को थी. इसमें पहला रिकॉर्ड ये रहा कि वैली फंक स्पेस में जाने वालीं दुनिया की सबसे बुजुर्ग व्यक्ति बन गई. वहीं, दूसरा रिकॉर्ड ये बना कि 18 वर्षीय ओलिवर डेमेन स्पेस में जाने वाले दुनिया के सबसे कम उम्र के व्यक्ति बन गए. यात्रा के दौरान सभी एस्ट्रोनोट्स के चेहरे पर उत्साह को देखा जा सकता था

पहली बार न्यू शेपर्ड के जरिए इंसानों को स्पेस में भेजा गया

बता दें कि जेफ बेजोस ने ब्लू ऑरिजन की स्थापना 2000 में की थी. न्यू शेपर्ड के जरिए 2015 से ही 15 से अधिक बार मानवरहित मिशनों को लेकर टेस्ट किया गया था. लेकिन ये पहला मौका था जब इंसानों को इसके जरिए स्पेस में भेजा गया था. गौरतलब है कि स्पेस टूर को लेकर दुनिया की कई कंपनियां मैदान में हैं. इसमें एलन मस्क (Elon Musk) की SpaceX और रिचर्ड ब्रैनसन (Richard Branson) की वर्जिन गेलेक्टिक (Virgin Galactic) भी शामिल है. इन कंपनियों का कहना है कि ये दुनिया के सभी लोगों के लिए स्पेस टूर को सस्ता और सुगम बनाने के लिए काम करेंगी.

कहां तक पहुंचा जेफ बेजोस का स्पेसक्राफ्ट?

न्यू शेपर्ड अंतरिक्ष के किनारे तक पहुंचा, जिसे कर्मन लाइन के रूप में जाना जाता है. इंटरनेशनल एयरोनॉटिक्स बॉडी ने इस रेखा को रेखांकित किया है, जिसे पृथ्वी के वातावरण और अंतरिक्ष के बीच सीमा माना जाता है. फिर भी 100 किमी की ऊंचाई पर पहुंचने वाले बेजोस ने ब्रैनसन की तुलना में अधिक दूरी तय की. ब्रैनसन ने अपनी यात्रा के दौरान 86 किमी की ऊंचाई तक उड़ान भरी. बेजोस ने यात्रा से पहले कहा था कि वह इस यात्रा को लेकर बहुत उत्साहित हैं, लेकिन वह नर्वस नहीं महसूस कर रहे हैं

Leave a Reply

x
%d bloggers like this: