Thursday, May 19th, 2022

Kisan Andolan Mujaffrngr Mahapanchayat : राकेश टिकैत का संकल्प’बिल वापसी नहीं, तो घर वापसी नहीं’

मुजफ्फरनगर में होने वाली महापंचायत को लेकर किसानों का आना शुरू हो गया है। जिले के बॉर्डर को हाई अलर्ट पर रखा गया है। सुबह से ही किसान महापंचायत के लिए पहुंचने शुरू हो गए हैं। भारतीय किसान यूनियन के अध्यक्ष चौधरी नरेश टिकैत समेत अनेक खापों के चौधरी पंचायत स्थल पर पहुंच चुके हैं। अंदाजा लगाया जा रहा है कि शाम तक भारी संख्या में किसान महापंचायत में शामिल होंगे। उधर, प्रशासन ने सुरक्षा व्यवस्था के चाक चौबंद इंतजाम किए हैं। लोगों की आवाजाही को देखते हुए सुरक्षा के मद्देनजर पुलिस फोर्स लगा दी गई है। चप्पे-चप्पे पर पुलिस तैनात है। निगरानी के लिए सीसीटीवी कैमरे भी लगाए गए हैं। यहां पढ़ें किसान महापंचायत से संबंधित पल-पल केमुजफ्फरनगर के जीआईसी मैदान से संयुक्त मोर्चा की होने वाली महापंचायत इतिहास लिखने को बेताब है। इस मैदान की खासियत रही है कि जब जब यहां सत्ताधारी पार्टी के विरोध में पंचायत का आयोजन हुआ है तो सत्ताधारी पार्टी आगामी चुनाव में मुंह की खानी पड़ी है। उत्तर प्रदेश के अलावा पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, गुड़गांव अन्य राज्यों से भी किसान भारी संख्या में महापंचायत में पहुंच रहे हैं। हाईवे पर दूर-दूर तक ट्रैक्टर ट्रॉली का काफिला दिखाई दे रहा है। इस दौरान हाइवे पर जाम की स्थिति भी बनी हुई है। जिस कारण अन्य वाहन चालकों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। किसान केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए आगे बढ़ रहे हैं। वहीं, किसान जिंदाबाद के नारे लगाए जा रहे हैं। गौरतलब है कि लंबे समय बाद सरकार के खिलाफ किसानों में ऐसा गुस्सा देखने को मिला है। महापंचायत में किसान, मजदूर, कर्मचारी, छात्र व महिलाएं भी बढ़-चढ़कर शामिल होने पहुंच रहे हैं। पंचायत में पहुंची महिलाओं ने कहा कि हमें अगली पीढ़ी को जवाब देना है। ये किसानों के हक की लड़ाई है जिसे वे जीतकर रहेंगे। उधर, रालोद के किसान महापंचायत को समर्थन देने के बाद बागपत में समाजवादी पार्टी कार्यकर्ताओं ने भी किसान महापंचायत को समर्थन देने का निर्णय लिया है। सपा कार्यकर्ता भी पंचायत स्थल के लिए रवाना हो गए हैं।

Leave a Reply

x
%d bloggers like this: