Wednesday, December 8th, 2021

LJP : लोजपा में बगावत , पांच सांसदों ने चाचा पशुपति को नया नेता चुना , चिराग की कार्यशैली से नाराज

नईदिल्ली, न्यूज हसल इंडिया ,रामविलास पासवान के निधन के बाद उनकी विरासत को उनके पुत्र चिराग पासवान को सौंपा गया था पर चिराग पासवान की कार्यशैली को लेकर विधान सभा चुनाव के समय से लोक जन शक्ति पार्टी में खिन्नता चल रही है। उसका नतीजा आज सामने आया जब लोक जन शक्ति पार्टी के पांच सांसदों ने चिराग को अलग अलग थलग कर एक अलग गुट खड़ा कर लिया है। यह गुट चिराग के चाचा पशुपति पारस के नेतृतित्व में चिराग का नेतृतित्व छोड़ दिया है। इसकी मीटिंग हो चुकी है सिर्फ ऐलान बाकी है। बिहार की राजनीति में कुछ बड़ा होने वाला है। खबर आ रही है कि रामविलास पासवान की लोक जनशक्ति पार्टी में सिर्फ चिराग पासवान अकेले बचे हैं। पार्टी के पांच सांसद चिराग पासवान के चाचा और रामविलास पासवान के छोटे भाई पशुपति पारस के नेतृत्व में पार्टी से अलगहो रहें हैं हैं।

पांचों संसद चिराग से नाराज

यह तय है कि इस बात को लेकर बैठक हो गई है और बस अब ऐलान होना बाकी है।मजेदार और हैरानी की बात यह है कि पार्टी में बगावत खुद चिराग पासवान के चाचा के नेतृत्त्व में हुआ हैऔर इसमें चिराग पासवान के चचेरे भाई प्रिंस राजकी भी महत्वपूर्ण भूमिका है । पार्टी के पांचो सांसद चिराग पासवान से नाराज बताए जा रहे हैं। इन लोगों को चिराग पासवान की कार्यशैली पसंद नहीं है। विधानसभा चुनाव के वक्त से यह सभी नाराज चल रहे हैं।यह भी हवा है की यह नया गुट जनतादल यूनाइटेड में विलय का मन बना लिया है।

चाचा और भाई की भूमिका

खबर है कि चाचा पशुपति पारस पासवान को नया नेता चुना गया है। बागी सांसदों ने तो चिराग पासवान को राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने से भी इंकार कर दिया है। अटकलें यह भी लगाई जा रही है कि चिराग पासवान से नाराज इन 5 सांसदों ने लोकसभा स्पीकर ओम बिरला को चिट्ठी भी लिखी है। चिट्ठी में उन्होंने अपने गुट को अलग से मान्यता देने की मांग की है। दावा किया जा रहा है कि यह गूट जदयू में विलय की तैयारी में भी है। बगावत करने वाले सांसदों में चिराग के चाचा पशुपति पारस पासवान, चचेरे भाई प्रिंस राज, चंदन सिंह, महबूब अली केसर और विणा देवी शामिल हैं।

Leave a Reply

x
%d bloggers like this: