Tuesday, September 21st, 2021

MP News : दिमाग के साथ दिल लगा कर किए गए कार्यों के मिलतें अच्छें परिणाम


मानवता की सेवा का दायरा बहुत विशाल : राज्यपाल श्री पटेल, राज्यपाल द्वारा रेडक्रॉस राज्य समिति की समीक्षा
रायसेन | 05-अगस्त-2021,NHI,  राज्यपाल श्री मंगुभाई पटेल ने कहा है कि मानवता की सेवा का दायरा बहुत विशाल है। जरुरत है कि दिमाग के साथ दिल लगा कर कार्य किया जाए। इस भाव के साथ किए गए कार्यों के परिणाम सदैव अच्छे होते हैं। उन्होंने कहा कि रेडक्रॉस में वंचित वर्ग को चिकित्सा की सभी सुविधाएँ उपलब्ध हो। उन्हें उपचार के लिए कहीं दूर नहीं जाना पड़े, यह सुनिश्चित किया जाना चाहिए। श्री पटेल आज राजभवन में भारतीय रेडक्रॉस सोसाईटी मध्यप्रदेश की राज्य शाखा इकाई की गतिविधियों की समीक्षा कर रहे थे। राज्यपाल के प्रमुख सचिव श्री डी.पी. आहूजा, सचिव एवं आयुक्त स्वास्थ्य श्री आकाश त्रिपाठी, आयुक्त चिकित्सा शिक्षा श्री निशांत वरवड़े, आयुक्त भोपाल संभाग श्री कविन्द्र कियावत एवं अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।
    राज्यपाल श्री मंगुभाई पटेल ने कहा कि पीड़ित मानवता की सेवा से बड़ा कोई धर्म नहीं होता है। इस कार्य में सभी के सहयोग के साथ कार्य किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि गरीब और वंचित वर्ग की मदद के उद्देश्य के साथ ही चिकित्सा एवं उपचार कि सुविधाएँ आधुनिक होना भी जरुरी है। साथ ही उनको समय अनुरूप अद्यतन करते रहना भी आवश्यक है। उन्होंने कहा कि गरीब पिछड़े वर्ग को बेहतर से बेहतर सुविधा देने की सोच के साथ कार्य किया जाना चाहिए। चिकित्सा एवं उपचार संबंधी आधुनिकतम संसाधनों के लिए निजी और सार्वजनिक संस्थानों के साथ सम्पर्क और समन्वय द्वारा उनकी उपलब्धता के प्रयास किए जा सकते हैं। उन्होंने कहा कि सेवा संस्थान की समस्त व्यवस्थाएँ पीड़ित मानवता की सेवा के लिए हैं। इस सेवा के कार्य में लापरवाही, गड़बड़ी को बर्दाश्त नहीं किया जाना चाहिए। गड़बड़ी मिलने पर तत्काल प्रभावी कार्रवाई की जाना चाहिए। दोषियों के विरुद्ध कार्यवाही करने में उदासीनता बरतने के मामलें में भी गंम्भीरता से जवाबदारी का परीक्षण करते हुए, दण्डात्मक कार्यवाही की जानी चाहिए।
    राज्यपाल श्री पटेल को बताया गया कि रेडक्रॉस चिकित्सालय को 19 अप्रैल से 19 मई 2021 तक कोविड डेडिकेटेट अस्पताल के रूप में संचालित किया गया था। इस अवधि में 119 कोविड मरीजों का उपचार किया गया। विगत 1 जून से रेडक्रॉस चिकित्सालय नॉन कोविड चिकित्सालय में परिवर्तित हो कर सामान्य चिकित्सालय के रूप में संचालित किया जा रहा है। नागरिकों को रियायती दर पर ओपीडी और जाँच की सुविधाएँ प्रदान की जा रही हैं। बताया गया कि भारतीय स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की जेपी हॉस्पिटल शाखा ने कॉरपोरेट रिस्पोन्सबिलिटी के अंतगर्त फेको मशीन, ईएनटी माईक्रोस्कोप, कॉटरी मशीन, हाईड्रोलिक ओ.टी. टेबल और सक्शन मशीनें प्रदान की है। रेडक्रॉस के राष्ट्रीय मुख्यालय नई दिल्ली द्वारा एक मोबाइल आईसीयू एम्बुलेंस प्रदान की गई है। मुख्यालय ने 50 बिस्तरों के लिए एक ऑक्सीजन प्लांट भी प्रदान किया है, जिसकी स्थापना का कार्य प्रगतिरत है। इसके साथ ही हर्षी इंडिया प्रायवेट लिमिटेड मण्डीदीप रायसेन द्वारा दान स्वरूप 5 लीटर के 10 ऑक्सीजन कंसन्ट्रेटर और आई. एफ.आर.सी. द्वारा 10 लीटर के 150 ऑक्सीजन कंसन्ट्रेटर प्रदान किये हैं।

Leave a Reply

x
%d bloggers like this: