Tuesday, June 22nd, 2021

MP News : पर्यावरण दिवस पर युवाओं ने लगाए पौधे



देवास | 05-जून-21,न्यूज हसल इंडिया,

9k=

    विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर नेहरू युवा केंद्र, देवास ने  जिले भर में फैले  युवा मंडलों एवं राष्ट्रीय युवा स्वयंसेवकों से  अपने घरों के आसपास पौधारोपण करने एवं उनका संरक्षण करने का आह्वान किया था। नेहरू युवा केंद्र संगठन, भारत सरकार के उपनिदेशक श्री अरविन्द श्रीधर ने बताया कि जिले भर के  ग्रामों में युवाओं द्वारा एक हजार से अधिक पौधे रोपे गए हैं। इसमें मुख्यतः नीम के पौधों का रोपण किया गया है।
   इस अवसर पर युवाओं के लिए आयोजित एक बेविनार को नेहरू युवा केंद्र संगठन, मध्य प्रदेश के राज्य निदेशक श्री रुचित्र नारायण त्यागी ने संबोधित किया। उन्होंने कहा कि पौधारोपण सहित पर्यावरण संरक्षण  जागरूकता पैदा करने में युवा प्रमुख भूमिका निभा सकते हैं। उन्हें खुद भी समझना है और लोगों को भी समझाना है, कि पर्यावरण का मुद्दा सीधे-सीधे हमारे आपके जीवन से जुड़ा हुआ है। परिवेश को जीवन अनुकूल रखने का काम मुख्यत: समाज का है। यह समय की आवश्यकता है कि समाज, विशेषकर युवा इस  दायित्व को उठाने के लिए आगे आए।
   उप निदेशक श्री अरविंद श्रीधर ने कहा कि नेहरू युवा केंद्र, देवास द्वारा निरंतर चलाए जा रहे “जल शक्ति अभियान” एवं “स्वच्छ गांव – हरित गांव” अभियान पर्यावरण संरक्षण पर ही केंद्रित हैं। खुशी की बात है कि ग्रामीण अंचल में युवा मंडल के सदस्य इन अभियानों के प्रति ना केवल अपनी रुचि प्रदर्शित कर रहे हैं, अपितु सक्रिय सहभागिता भी कर रहे हैं। विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर अपने स्तर पर पौधे जुटाकर उनका रोपण एवं संरक्षण की जवाबदारी लेना युवा मंडल आंदोलन के लिए एक शुभ संकेत है।
    इस अवसर पर नेहरू युवा केंद्र, देवास द्वारा समय-समय पर आयोजित पर्यावरण संरक्षण गतिविधियों में भाग लेने वाले युवाओं को प्रमाण पत्र भी वितरित किए गए।
   जिले भर में आयोजित पर्यावरण गतिविधियों के आयोजन में राष्ट्रीय युवा स्वयंसेवकों यश दुबे,  वैशाली सिंह, हेमंत देवड़ा, अक्षय जोशी, हर्ष जोशी, देवेन्द्र राठौर,  इंद्रजीत ठाकुर, ललिता, पूजा उइके, राहुल मालवीय, राहुल सिंह, रंजना सिंह, संदीप गुर्जर, सोनू गुर्जर एवं विनीत मंडलोई की प्रमुख भूमिका रही। जबकि जिला स्तर पर नेहरू युवा केंद्र के कार्यक्रम सहायक श्री अनिल जैन ने समन्वय किया।

Leave a Reply

x
%d bloggers like this: