Tuesday, June 22nd, 2021

MP News: शादी के नाम पर जेवर गहने लेकर भागने वाली दुल्हनों का गैंग पर पुलिस की दबिश, माँ की तबियत का बहाना बताकर जेवर और गहने लेकर भाग जाती थी दुल्हन

मध्य प्रदेश के गुना में पुलिस ने शादी के नाम पर लूटकर फरार होने वाले गैंग का पर्दाफाश किया है. इस गैंग के 6 लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. ये गैंग शादी के नाम पर पहले लड़कों को फंसाता था और फिर उनसे रुपए वसूलता था. गैंग की लड़की, लड़के से शादी करती थी और फिर 2,3 दिन उसके घर रहकर बाद में रुपए और जेवर लेकर फरार हो जाती थी.

लंबे समय से पुलिस को इस तरह की शिकायतें मिल रही थी. जिसके बाद पुलिस ने इस गिरोह को पकड़ने के लिए इन्हीं का ही तरीका अपनाया. इसके लिए एक कॉन्स्टेबल को दूल्हा बनाकर भेजा गया. सवा लाख रुपए में सौदा तय हुआ. जब आरोपी लड़की दिखाने के लिए आए, तब पुलिस ने उन्हें पकड़ लिया.

पैसा लेकर शादी करवाते थे

एसपी राजीव कुमार मिश्रा ने बताया कि मधुसूदनगढ़ के रहने वाले लाखन लोधी की शादी नहीं हो रही थी. शादी नहीं होने से परिवार बहुत परेशान था. जिसके बाद लाखन के पिता कैलाबई मीणा नाम की महिला से मिले. कैलाबई 8 मई को लाखन और उसके पिता को अपने परिचित गोविंद मीणा के साथ विदिशा जिले की लटेरी तहसील लेकर आई. यहां उन्हें रहीश नाम के व्यक्ति जो भोपाल का रहना वाला है उसने ममता अहिरवार और नीलम रेकवार दो लड़कियों से मिलवाया. यहां लाखन ने ममता को शादी के लिए पसंद कर लिया। इसके बाद 70 हजार रुपए देकर ममता को साथ ले आए.

मां की तबीयत खराब कहकर चली आई ममता

लटेरी से ममता को साथ लाने के बाद परिवार ने लाखन और ममता की शादी रूपाहेड़ी गांव आकर मंदिर में कर दी. कुछ दिन तक सब सही चलता रहा. फिर ममता ने सुसराल में कहा कि उसकी मां बीमार है और उसे मां के पास जाना है और वो चली गई. जिसके बाद लाखन के कहने पर भी वो वापस नहीं आ रही थी. बाद में लाखन से 15 हजार रुपए लेने के बाद ही वापस आई. दो दिन बाद ममता दोबारा सागर जाने की जिद करने लगी.

मना करने पर उसने 25 मई को साथियों नीलम रैकवार, रहीश, प्रीति उईके, प्रियंका चौहान, सोनू श्रीवास्तव, मजबूत सिंह यादव, मोहर सिंह ठाकुर और जगदीश मीना को बुला लिया. मना करने के बाद भी वह ममता को जबरदस्ती साथ लेकर चले गए. जिसके बाद लाखन ने इसकी शिकायत थाने में की.

थाना प्रभारी ने कहा शादी के लिए चाहिए लड़की

पुलिस ने इस मामले में दोषियों तक पहुंचने के लिए उन्हीं का ही रास्ता अपनाया. पुलिस ने लाखन से गैंग के मेंबर रहीश का नंबर लिया और उसे कॉल कर के कहा कि उन्हें शादी के लिए लड़की चाहिए. सदस्यों ने सवा लाख रुपए मांगे. टीआई शादी के लिए राजी हो गए. सदस्य ने कहा कि उनके पास कई लड़कियां हैं. सौदा तय होने के बाद गैंग के सदस्यों ने उन्हें भोपाल के बैरसिया इलाके में बुलाया.

कॉन्स्टेबल को बना दिया नकली दूल्हा

पुलिस ने मधुसूदनगढ़ थाने में पदस्थ कॉन्स्टेबल को नकली दूल्हा बनाया और मुखबिर लड़के को उसका पिता बनाकर भेजा. पूरी टीम बैरसिया के लिए रवाना हो गई. बैरसिया-नजीराबाद के बीच रोड पर पहुंचे. यहां कार में गैंग के सदस्य आए. उनको शादी के लिए लड़का बनाकर लाए कॉन्स्टेबल को दिखाया, तो वह तैयार हो गए. इसके बाद गैंग के सदस्यों ने भी चार लड़कियां दिखाईं. पुलिस को यकीन हो गया. टीम ने मौके पर से 6 लोगों को पकड़ लिया. वहीं, गाड़ी में बैठे कुछ लोग कार्रवाई देख भाग गए.

ये आरोपी पकड़े गए

पकडे गए आरोपियों में 3 लोग सागर के रहने वाले हैं. वहीं एक-एक सदस्य बैतूल, सीहोर और भोपाल के हैं आरोपियों में ममता (30) सागर, नीलम रैकवार (28) सागर, प्रीति उईके (27) सारणी बैतूल, प्रियंका चौहान (27) सीहोर, रहीश मुल्तानी (36) भोपाल, सोनू श्रीवास्तव (28) सागर हैं.

Leave a Reply

x
%d bloggers like this: