Sunday, May 22nd, 2022

MP News : नगरीय निकाय में पेयजल की समस्या नहीं होना चाहिए, भूपेंद्र सिंह

किसी भी नगरीय निकाय में पेयजल की समस्या नहीं होना चाहिए। जहाँ भी जरूरत हो पानी के टेंकर नागरिकों को से पेयजल की आपूर्ति सुनिश्चित करें। इसके लिए बजट की कोई कमी नहीं है। नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री भूपेन्द्र सिंह ने यह निर्देश नगरीय निकायों में पेयजल व्यवस्था की समीक्षा के दौरान दिये। श्री सिंह ने कहा कि पेयजल परियोजनाओं में देरी करने वाले कांट्रेक्टर्स को टर्मिनेट अथवा ब्लैक-लिस्ट करें।

श्री सिंह ने कहा कि जिन नगरीय निकायों में 2 दिन छोड़कर पानी दे रहे हैं, वहाँ दूसरे दिन और जहाँ एक दिन छोड़कर पानी दे रहे हैं, वहाँ प्रतिदिन पेयजल की आपूर्ति करें। उन्होंने कहा कि अमृत प्रोजेक्ट के कंसल्टेंट समय पर रिपोर्ट दें। पर्याप्त पानी के स्त्रोत भी चिन्हित करें।

मंत्री श्री सिंह ने नगर निगम आयुक्त और मुख्य नगरपालिका अधिकारियों से अलग-अलग वीडियो काफ्रेंसिंग से बात कर पेयजल की स्थिति की जानकारी ली और जरूरी निर्देश दिये। उन्होंने पानखेडी (कालापीपल) में अमृत योजना के कार्य में देरी पर कंसल्टेंट और कांट्रेक्टर को ब्लैक-लिस्ट करने के निर्देश दिये।

श्री सिंह ने अधीक्षण यंत्री को 2 दिन मण्डीदीप में कैंप कर पेयजल योजना की समीक्षा कर काम में तेजी लाने और पुराने कांट्रेक्टर को ब्लैक-लिस्ट करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि मुलताई में रेलवे लाइन के पास पाइप-लाइन डालने के संबंध में डीआरएम नागपुर से चर्चा की जाये।

ग्वालियर में 6 साल बाद प्रतिदिन पेयजल

आयुक्तनगर निगम ग्वालियर ने बताया कि ग्वालियर में 6 साल बाद एक अपै्रल 2022 से प्रतिदिन पेयजल की आपूर्ति की जा रही है। नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री सिंह ने इस उपलब्धि पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा इसका अनुसरण अन्य निगम भी करें। उन्होंने कहा कि कटनी में पेयजल की आपूर्ति प्रतिदिन करने के समुचित प्रबंध करें। नगर परिषद चांद जिला छिंदवाडा के पेयजल परियोजना में धीमी प्रगति पर पुन टेंडर जारी करने के निर्देश दिये। नगर परिषद न्यूटन चिचली में भी प्रतिदिन पेयजल आपूर्ति की व्यवस्था करें।

प्रमुख सचिव नगरीय विकास एंव आवास श्री मनीष सिंह ने नगर परिषद मेघनगर की पेयजल योजना का कार्य 15 दिन में पूरा करने के निर्देश दिये।

Leave a Reply

x
%d bloggers like this: