Friday, July 30th, 2021

Nagpur News : 85 साल के बुजुर्ग ने 40 के युवक के लिए दिया अपना बेड

  1. Nagpur News : नागपुर, न्यूज हसल इंडिया,NHI,

लोग जब आज मानवता भूल गए हैं । अपनो अपने के नही हो रहें हैं । किसी कीअर्थी उठाने वाले चार लोग नहीं मिल रहे हैं । अस्पताल के बिस्तर से शमशान तक पैसों का मोलभाव चल रहा है ।

आत्मा मर चुकी है और मानवीयता को कोरोना निगल लिया है तब अब किसी से दया धर्म की क्या अपेक्षा की जा सकती है लेकिन नागपुर के एक बुजुर्ग ने बता दिया है कि मानवीयता अभी मरी नही है ।

नागपुर के 85 साल के बुजुर्ग ने अस्पताल का बिस्तर एक 40 साल के युवा के लिए छोड़कर खुद दुनिया से विदा हो गए । बुजुर्ग नारायण भाऊ राव दाभाड़कर कोरोना सनक्रमित हो गए थे ।

उन्हें नागपुर के किसी अस्पताल में बिस्तर नही मिल रही थी । उसके बेटी दामाद किसी भी तरह जुगाड़ करके नागपूर के इंदिरागांधी शासकीय अस्पताल में बेड दिलवाए ।

वहां उनका उपचार चल रहा था । इस दौरान एक महिला वहां बेड नहीं मिलने से बहुत रो रही थी । वह अपने 40 साल के कोरोना सनक्रमित पति को लेकर आई थी ।

बुजुर्ग से महिला का एक युवा पति के इलाज के लिए तड़पना देखा नहीं गया । वह अस्पताल प्रबंधन के पास जाकर बोला कि मैंने अपना जीवन जी लिया है । यह युवक 40 साल का है ।

इसके पीछे पूरा परिवार है । इनको कुछ हुआ तो बच्चे अनाथ हो जाएंगे । आप मेरा बेड उस युवक को दे दीजिए । मैं घर चला जाता हूँ । अस्पताल प्रबंधन बुजुर्ग की बात सुन हकबक रह गया ।

उन लोगों ने कहा हम लोग अपनी मर्जी से ऐसा नही कर सकते आपको यह लिखकर देना होगा कि आप स्वेच्छा से बेड छोड़ रहें हैं । बुजुर्ग ने लिखकर दे दिया ओर घर चला गया ।

घर पर उसका उपचार हो रहा था कि अस्पताल से छुट्टी के तीन बाद घर पर उनकी मौत हो गई । बताया जाता है उनका ऑक्सीजन लेबल डाउन हो चुका था तथा 60 पर पहुंच गया था ।

बुजुर्ग दाभाड़कर ने 40 साल के युवक को जिंदगी देकर खुद दुनिया से विदा लेकर मानवता की वह मिसाल पेश की है जो आज के माहौल में बिल्कुल अकल्पनीय है ।

ट्वीटर और सोशल मीडिया में दाभाड़कर के त्याग को लाखों लोग नमन कर श्रद्धांजलि दे रहें हैं । शिवराज सिंह चौहान और कैलाश विजयवर्गीय ने भी ट्वीट कर बुजुर्ग के पवित्र सेवाभाव को प्रणाम किया है ।

Leave a Reply

x
%d bloggers like this: