Thursday, May 19th, 2022

Nirmala Sitharaman LIVE Updates: बैड बैंक और पेट्रोल-डीजल को GST के दायरे में लाने की हो सकती है घोषणा ?

17 सितंबर को जीएसटी काउंसिल की बैठक से पहले आज वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की अहम बैठक हुई. आज की बैठक को लेकर प्रेस कॉन्फ्रेंस कर जानकारी दी गई है. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बैड बैंक जिसे असेट री-कंस्ट्रक्शन कंपनी कहते हैं उसका ऐलान किया.

क्या होता है बैड बैंक

Bad Bank कोई बैंक नहीं है, बल्कि यह एक असेट री-कंस्ट्रक्शन कंपनी (एआरसी) होती है. बैंकों के डूबे कर्ज को इस कंपनी के पास ट्रांसफर कर दिया जाएगा. इससे बैंक आसानी से ज्यादा लोगों को लोन से दे सकेंगे और इससे देश की आर्थिक ग्रोथ रफ्तार पकड़ेगी.

आसान शब्दों में कहें तो जब कोई व्यक्ति या संस्था किसी बैंक से पैसा यानी लोन लेकर उसे वापस नहीं करता है, तो उस लोन खाते को बंद कर दिया जाता. इसके बाद उसकी नियमों के तहत रिकवरी की जाती है. ज्यादातर मामलों में यह रिकवरी हो ही नहीं पाती या होती भी है तो न के बराबर. नतीजतन बैंकों का पैसा डूब जाता है और बैंक घाटे में चला जाता है.

Leave a Reply

x
%d bloggers like this: