Thursday, December 9th, 2021

आतंक के दम पर तोड़ने वाली शक्तियों का अस्तित्व कभी स्थायी नहीं होता, सोमनाथ में बोले PM Modi

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुजरात के सोमनाथ में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कई परियोजनाओं का लोकार्पण किया. इस दौरान पीएम मोदी ने देश में धार्मिक पर्यटन को मजबूत करने की जरूरत पर जोर दिया. उन्होंने कहा, ‘आज मुझे समुद्र दर्शन पथ, सोमनाथ प्रदर्शन गैलरी और जीर्णोद्धार के बाद नए स्वरूप में जूना सोमनाथ मंदिर के लोकार्पण का सौभाग्य मिला है. साथ ही आज पार्वती माता मंदिर का शिलान्यास भी हुआ है’. इस दौरान पीएम मोदी ने यह भी कहा कि आतंक के दम पर तोड़ने वाली शक्तियां भले ही कुछ समय के लिए हावी हो जाएं लेकिन
उनका अस्तित्व कभी स्थायी नहीं होता’.

पीएम ने शुक्रवार को सोमनाथ में कई परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास करते हुए कहा, ‘हमें धार्मिक पर्यटन को मजबूत करने की जरूरत है. इससे युवाओं को रोजगार भी मिलता है. इससे वो हमारे अतीत के बारे में भी जानेंगे.’ पीएम मोदी ने कहा, ‘सोमनाथ मंदिर को सैकड़ों सालों के इतिहास में कितनी ही बार तोड़ा गया, यहां की मूर्तियों को खंडित किया गया, इसका अस्तित्व मिटाने की हर कोशिश की गई. लेकिन इसे जितनी भी बार गिराया गया, ये उतनी ही बार उठ खड़ा हुआ’.

उन्होंने कहा, ‘देश में लगभग 40 बड़े तीर्थ स्थानों को विकसित किया जा रहा है, जिनमें 15 परियोजनाओं पर काम को पूरा कर लिया गया है. गुजरात में भी 100 करोड़ रुपए से ज्यादा के तीन प्रोजेक्ट पर प्रसाद योजना के तहत काम चल रहा है’. पीएम ने कहा, ‘देशभर में 19 प्रतिष्ठित पर्यटन स्थलों की पहचान कर उन्हें विकसित किया जा रहा है. ये सभी प्रोजेक्ट आने वाले समय में हमारे पर्यटन क्षेत्र को ऊर्जा देंगे’.

उन्होंने कहा, ‘आज मैं लौह पुरुष सरदार पटेल जी के चरणों में भी नमन करता हूं जिन्होंने भारत के प्राचीन गौरव को पुनर्जीवित करने की इच्छाशक्ति दिखाई. सरदार साहब, सोमनाथ मंदिर को स्वतंत्र भारत की स्वतंत्र भावना से जुड़ा हुआ मानते थे.’ प्रधानमंत्री ने कहा, ‘पश्चिम में सोमनाथ और नागेश्वर से लेकर पूरब में बैद्यनाथ तक, उत्तर में बाबा केदारनाथ से लेकर दक्षिण में भारत के अंतिम छोर पर विराजमान श्री रामेश्वर तक, ये 12 ज्योतिर्लिंग पूरे भारत को आपस में पिरोने का काम करते हैं’.

पीएम मोदी ने कहा, ‘हमारा पर्यटन विभाग स्वदेश दर्शन कार्यक्रम के तहत 15 अलग-अलग थीम पर आधारित पर्यटन सर्किट डेवलप कर रहा है. ये सर्किट पूरे क्षेत्रों में टूरिज्म और रोजगार के अवसरों के विकास में मदद करेंगे. उन्होंने कहा, ‘हमने पूरे देश में पर्यटन को बेहतर बनाने के लिए कई कदम उठाए हैं. भारत ट्रैवल एंड टूरिज्म कंपटीशन इंडेक्स में 65वें स्थान पर काबिज है. 2019 से इसने 34 स्थान की छलांग लगाई है.

Leave a Reply

x
%d bloggers like this: