Wednesday, December 8th, 2021

PM Modi : – भाजपा राष्ट्रीय कार्यकारिणी बैठक : जनता और पार्टी के बीच भरोसे का पुल बनें कार्यकर्ता, यह एक परिवार की पार्टी नहीं

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बैठक में व्यक्तिगत रूप से उपस्थित होने वाले एकमात्र मुख्यमंत्री थे और उन्होंने कार्यकारिणी में राजनीतिक प्रस्ताव पेश किया। पार्टी के अन्य मुख्यमंत्री ऑनलाइन रूप से बैठक में शामिल हुए।कोरोना के कारण करीब डेढ़ साल की देरी से हो रही भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कार्यकर्ताओं से कहा कि उन्हें आम जनता और पार्टी के बीच भरोसे का पुल बनना है।परोक्ष रूप से कांग्रेस तथा अन्य परिवार केंद्रित पार्टियों पर तंज कसते हुए मोदी ने कहा कि भाजपा किसी एक परिवार की परिक्रमा करने वाली पार्टी नहीं है। उन्होंने उम्मीद जताई कि जनता से जुड़े मुद्दे उठाने के कारण पार्टी आगामी विधानसभा चुनाव में जनता का भरोसा जीतने में कामयाब होगी। पीएम मोदी ने कोविड-19 महामारी के दौरान किए गए जन कल्याण के कार्यों के लिए कार्यकर्ताओं की तारीफ की। भारतीय जनता पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी बैठक के समापन सत्र में मोदी ने कहा, भाजपा सेवा, संकल्प और समर्पण के मूल्यों पर चलती है न कि किसी एक परिवार के चारों ओर घूमती है। पार्टी के महासचिव और केंद्रीय भूपेंद्र यादव ने पत्रकारों को बैठक में मोदी के भाषण की जानकारी दी। बैठक में कार्यकारिणी सदस्य ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरीकों से शामिल हुएभारतीय जनता पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी ने अफगानिस्तान में तालिबान के कब्जे को देखते हुए भारत में पहले से ही नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) लागू करने के मामले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की दूरदर्शिता की तारीफ की और कहा कि अफगानिस्तान के हालात ने इस कानून को सही साबित किया है। इस कानून के तहत पाकिस्तान-अफगानिस्तान समेत भारत के कुछ पड़ोसी देशों के अल्पसंख्यकों को भारत की नागरिकता देने का प्रावधान किया गया है। केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने यह जानकारी दी और बताया कि कार्यकारिणी ने कोविड महामारी के दौरान प्रभावी नेतृत्व देने और देश के 80 करोड़ गरीबों को मुफ्त अनाज देने के लिए भी पीएम की सराहना की।राजनीतिक प्रस्ताव में क्या है
केंद्रीय मंत्री निर्मला सीतारमण ने पत्रकारों को बताया कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कार्यकारिणी में राजनीतिक प्रस्ताव पेश किया, जिसमें कहा गया है कि हम आने वाले विधानसभा चुनावों में पार्टी की जीत सुनिश्चित करेंगे। प्रस्ताव में महामारी के दौरान डर का वातावरण बनाने के लिए विपक्ष की अवसरवादी राजनीति की आलोचना की गई हैइसके अलावा सफल टीकाकरण, रोम में हुए जी-20 सम्मेलन में पीएम के ‘वन अर्थ वन हेल्थ’ के संदेश, कोरोना काल में चलाई गई गरीब कल्याण योजना, किसान सम्मान निधि योजना, गरीबों-किसानों को राहत देने के लिए चलाई जा रही कई योजनाओं, आयुष्मान भारत योजना, स्वस्थ भारत मिशन, भ्रष्टाचारमुक्त दूरदर्शी और गरीब हितैषी दृष्टि अपनाने के लिए पीएम की तारीफ की गई। प्रस्ताव में अनुच्छेद 370 के खात्मे के बाद राज्य में आतंकवाद में कमी आने और विकास कार्यों में तेजी लाने के लिए भी मोदी सरकार की तारीफ की गई है।चुनावी राज्यों के मुख्यमंत्रियों-अध्यक्षों ने तैयारी का ब्योरा दिया
अगले कुछ महीने के अंदर विधानसभा चुनाव का सामना करने वाले चार राज्यों, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, गोवा और मणिपुर के मुख्यमंत्रियों और प्रदेश अध्यक्षों ने बैठक में चुनाव को लेकर तैयारियों का ब्योरा दिया। चुनाव वाले एक अन्य राज्य पंजाब के पार्टी अध्यक्ष ने भी ऐसा ही ब्योरा प्रस्तुत किया।बैठक में ऑनलाइन शामिल हुए आडवाणी
भाजपा के वरिष्ठ नेता और देश के पूर्व उपप्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी और पार्टी के पूर्व अध्यक्ष मुरली मनोहर जोशी कार्यकारिणी की बैठक में ऑनलाइन शामिल हुए।

Leave a Reply

x
%d bloggers like this: