Wednesday, June 23rd, 2021

3 मई हिंदी सिनेमा की 108 वी वर्षगांठ ,पहली फिल्म ‘राजा हरिश्चन्द्र’

3 मई हिंदी सिनेमा की 108 वी वर्षगांठ ,पहली फिल्म ‘राजा हरिश्चन्द्र’

मुम्बई,न्यूज हसल इंडिया,NHI,

3 मई यानी आज ही के दिन भारत मे भारतीय सिनेमा का उदभव हुआ था । पहली फ़िल्म थी राजा हरिश्चंद्र । इसे दादा साहेब फाल्के ने बनाया था और 3 मई 1913 को मुंबई में रिलीज हुआ । उस समय देश अंग्रेजों का गुलाम था । और सभी के दिलों के भीतर आजादी की बेचैनी थी । अतः इस फ़िल्म को भी दादा साहब को अंग्रेजों से लड़कर पास कराना पड़ा । क्योकि यह फ़िल्म अंग्रेजी हुकूमत पर चोट पहुंचाने वाली कथानक में बनी थी । कहानी की पटकथा में  एक साधु था जो राजा को फुसलाकर उसका सब कुछ राजपाट लूट लिया । साधु अंग्रेजो का प्रतिक बना था और राजा भारत देश था । बावजूद किसी भी तरह लड़कर यह फ़िल्म पास कराई गई । यह फ़िल्म मूक बनी थी ओर कलाकार इशारों से समझाया करते थे ।  फ़िल्म में  हरिश्चंद्र का किरदार दत्तात्रय दामोदर ने निभाया था हीरोइन के लिए महिला नहीं मिल रही थी सो दादा साहेब ने इसके लिये रेड लाइट एरिया भी छान मारा । अंततःइस फ़िल्म में किसी महिला ने काम नहीं किया । फिर फ़िल्म में तारामती रानी की भूमिका अन्ना सलंके ने निभाया । इस फ़िल्म को पूरा करने में 7 माह 21 दिन लगे तब उस समय इस फ़िल्म की लागत 15 हजार आंकी गई । जब 3 मई 1913 को रिलीज हुई तब भीषण गर्मी में भी मुम्बई के गिरगावँ  कोरोनेशन थियेटर में टिकट के लिए लंबी लाइने लगी थी ।

Leave a Reply

x
%d bloggers like this: