Friday, July 30th, 2021

कोरोना नियमों की खुलेआम उड़ाईं धज्जियां! कलश यात्रा में महिलाओं की भीड़ जुटने के बाद बढ़ा संक्रमण का खतरा, सील किया गया गांव

मध्य प्रदेश में कोरोना (MP Corona) के मामले अभी पूरी तरह से कंट्रोल भी नहीं हुए कि एक बार फिर लापरवाही देखने को मिली है. बरबोदना गांव में नियमों को ताक पर रखकर एक धार्मिक कलश यात्रा (Kalash Yatra) का आयोजन किया गया. इसमें बड़ी संख्या में लोग भी शामिल हुए. किसी को भी संक्रमण का कोई खौफ नहीं था.

इस कलश यात्रा का वीडियो जैसे ही सोशल मीडिया (Video Viral) पर वायरल हुआ प्रशासन में हड़कंप मच गया. जल्दबाजी में गांव के बॉर्डर्स को सील कर दिया गया. साथ ही लापरवाही के आरोप में पटवारी और सचिव को सस्पेंड (Suspended) कर दिया गया. दरअसल धार्मिक आयोजन में जुटी भीड़ के बाद गांव में कोरोना संक्रमण फैलने का खतरा और भी बढ़ गया है.

निकाली गई 108 कलश की गंगा यात्रा

बतादें कि गांव के ही हुमान मंदिर में हुए अनुष्ठान के बाद 108 कलश की गंगा यात्रा निकाली गई थी. जिसमें सैकड़ों की तादाद में भीड़ जमा हुई थी. इनमें महिलाओं की संख्या काफी थी.  कोरोना के बेकाबू मामलों पर बहुत ही कोशिशों के बाद लगाम लगी है. अब एक बार फिर बड़ी लापरवाही से संक्रमण का खतरा काफी बढ़ गया है. वीडियो वायरल होने के बाद यह मामला उजागर हो गया है.

जवान की अंतिम यात्रा में भी जुटी थी भीड़

बरबोदना गांव में भीड़ जुटने का ये कोई पहला मामला नहीं है. इससे पहले सेना के जवान कन्हैया लाल जाट की शहादत के बाद भी अंतिम यात्रा में काफी भीड़ जुटी थी. जिसके बाद एहतियात के तौर पर आसपास के गांव को भी सील कर दिया गया था. प्रशासन ने मुस्तैदी दिखाते हुए हेल्थ सर्वे भी कराया था. अब एक बार फिर धार्मिक आयोजन के जरिए लापरवाही देखने को मिली है, कलश यात्रा के बाद गांव में संक्रमण का खतरा फिर से बढ़ गया है.

मध्य प्रदेश के रतलाम में अब तक करीब 17 हजार लोग कोरोना संक्रमित हो चुके हैं. वहीं 308 लोगों की मौत भी हो चुकी है. लेकिन फिर भी लोग लापरवाही से बाज नहीं आ रहे हैं.

Leave a Reply

x
%d bloggers like this: