Wednesday, December 8th, 2021

Sameer Wankhede Case: दोहरी जांच में फंसे समीर वानखेड़े, जानिए किन 4 शिकायतों के आधार पर कसना शुरू हुआ शिकंजा

शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान (Aryan Khan) को गिरफ्तार (Arrest) करने वाले एनसीबी मुंबई के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े (Sameer Wankhede Case) दोहरी जांच में फंसे गए हैं. एक तरह उनके खिलाफ विभाग की विजिलेंस टीम (Vigilance Team) जांच कर रही है. वहीं मुंबई पुलिस (Mumbai Police) ने अब उनके खिलाफ जांच शुरू कर दी है. असल में आर्यन खान के में एक स्वतंत्र गवाह प्रभाकर सेल का एक हलफनामा सामने आया था, जिसके समीर वानखेड़े जांच के दायरे में आए.

प्रभाकर सेल ने रविवार को एक हलफनामा सोशल मीडिया पर जारी किया. हलफनामे में उन्होंने कहा कि आर्यन खान मामले में एनसीबी ने उनसे पंच के रूप में 10 सादे कागजों पर साइन करवाए थे. सेल ने आरोप लगाया कि मामले में एक अन्य पंच किरण गोसावी के सैम डिसूजा नाम के दोस्त से 25 करोड़ की वसूली करने की बात करते सुना था.

मुंबई पुलिस ने शुरू की जांच

इन 25 करोड़ रुपए में से 8 करोड़ रुपए समीर वानखेड़े को देने की बात भी की जा रही थी. सेल के इसी हलफनामे के आधार पर मुंबई पुलिस ने एनसीबी अधिकारी समीर वानखेड़े के खिलाफ केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. जानकारी के अनुसार मंगलवार को पुलिस उपायुक्त स्तर के एक अधिकारी ने सेल का बयान दर्ज किया है.

पुलिस अब प्रभाकर सेल के फोन रिकार्ड के आधार पर उसकी गतिविधियों की सत्यता की जांच करेगी. सेल ने अपने बयान में हाजी अली के पास से पैसों के भरे दो बैग लेकर आने का दावा किया है. इसलिए पुलिस आसपास की सीसीटीवी फुटेज भी खंगाल रही है. इन सभी तथ्यों की जांच कर रिपोर्ट तैयार की जाएगी. इसके बाद फैसला लिया जाएगा की समीर के खिलाफ एफआईआर दर्ज की जाए या नहीं.

दूसरी बार दर्ज हुए प्रभाकर के बयान

वहीं पुलिस ने रिश्वत के मामले में बुधवार को स्वतंत्र गवाह प्रभाकर सेल का बयान दूसरी बार दर्ज किए. एक अधिकारी ने बताया कि सेल आजाद मैदान डिवीजन के सहायक पुलिस आयुक्त के सामने दोपहर तीन बजे पेश हुए और रात साढ़े आठ बजे निकले. मंगलवार शाम को भी सेल पुलिस के सामने पेश हुए थे और आठ घंटे तक उनका बयान दर्ज किया गया था.

समीर वानखेड़े के खिलाफ अधिकारी ने बताया कि पुलिस, स्वतंत्र चश्मदीद प्रभाकर सैल (Prabhakar Sail), वकील सुधा द्विवेदी, कनिष्क जैन और नितिन देशमुख ने शिकायतें दर्ज कराई हैं. इन सभी शिकायतों की एक साथ जांच की जा रही है. संयुक्त पुलिस आयुक्त विश्वास नांगरे पाटिल ने बुधवार को मामले में आदेश जारी किया.

Leave a Reply

x
%d bloggers like this: