Tuesday, June 22nd, 2021

SHANI JYANTI 2021 : शनिदेव की पूजा से होता है जीवन में कष्टों का निवारण, खुलते हैं तरक्की के द्वार

SHANI JYANTI 2021 : आज ऐसा योग पड़ रहा है कि सूर्य ग्रहण के साथ ज्येष्ठ कृष्ण अमावस्या को शनि  जयंती मनाई जा रही है। भगवान शनि देव का इस धरती पर बहुत ही अधिक महत्व है।

रायपुर,(प्रियंका घाटगे, न्यूज़ हसल इंडिया) , शनिदेव न्याय के देवता माने जाते है। शनिदेव को सूर्यपुत्र भी माना जाता है। ऐसी भी मान्यता है कि जीवन में यदि तरक्की करनी हो या घर पर कोई काम नहीं बन रहा है

तो उसके लिए यदि शनिदेव की विशेष पूजा की जाए तो शनिदेव शीघ्र ही प्रसन्न होकर अपने भक्तों को शुभाशीर्वाद प्रदान करते है। जिससे उनके सभी कार्य पूर्ण होते है। जिन व्यक्तियों के ऊपर शनि की साढ़ेसाती का असर हो उन्हें भी शनिदेव की विशेष पूजा करनी चाहिए।

SHANI JYANTI 2021 : शनिदेव की पूजा से होता है जीवन में कष्टों का निवारण, खुलते हैं तरक्की के  द्वार

SHANI JYANTI 2021 : शनिदेव की पूजा का विशेष वार होता है शनिवार

शनिदेव की पूजा करने का विशेष वार शनिवार होता है। लोग इस दिन शनि मंदिर में जाकर उनके समक्ष सरसों के तेल का दीपक भी जलाते है। इसके अलावा उनकी पूजा में काले तिल,उड़द की दाल और काली चीजों का दान करते है। ऐसा माना जाता है कि इससे उनके जीवन में आने वाले कष्टों का शीघ्र ही निवारण हो जाता है

SHANI JYANTI 2021 : शनि शिंगणापुर में भी होती है शनिदेव की विशेष पूजा अर्चना

शिरडी के पास स्थित शनि शिंगणापुर में भगवान् शनि देव की विशेष पूजा होती है। यहां शनिदेव के मंदिर में शनिदेव खुले आसमान के नीचे काली मूर्ति के रूप में विराजमान है। इस स्थान को शनिदेव का जन्मस्थान माना जाता है।

शिरडी दर्शन करने आने वाले भक्त एक बार जरूर यहां शनि देव के दर्शन कर ही यहां से जाते हैं।  कलयुग में भी इस स्थान की ऐसी महिमा है कि इस ग्राम में किसी भी घर में कोई चोरी नहीं होती है। यहां सभी के घर खुले होते है। जिस घर में चोरी होती है वहां स्वयं शनिदेव चोर को क्रोधित होकर सजा देते हैं।

SHANI JYANTI 2021 : शनिदेव की पूजा से होता है जीवन में कष्टों का निवारण, खुलते हैं तरक्की के  द्वार

SHANI JYANTI 2021 : रायपुर के गोलबाजार में भी शनिदेव के मंदिर में होती है विशेष पूजा

आज अमावस्या के दिन रायपुर स्थित शनिदेव के मंदिर में बहुत से भक्त शनिदेव की पूजा कर उनका आशीर्वाद लेने जरूर आते हैं। सावन के महीने में शिव जी के साथ भगवान शनिदेव की पूजा की जाए तो इससे शनिदेव शीघ्र प्रसन्न होते है।

मनुष्य की प्रवृत्ति ही ऐसी है की वह इस धरती पर हर प्रकार से सुखी रहना चाहता है इसलिए वह भगवान शनिदेव की पूजा बहुत ही भक्ति- भाव से करता है। जिससे शनिदेव भी अपने भक्तों पर प्रसन्न होकर उनके जीवन में आने वाली  तमाम  बाधाओं  का निवारण कर उन्हें सुखी जीवन जीने का आशीर्वाद प्रदान करते हैं।

Leave a Reply

x
%d bloggers like this: