Friday, July 30th, 2021

World Environment Day 2021 : कोरोनाकाल के साथ तंग जीवन को हराभरा करने वाला पर्यावरण की आस

World Environment Day 2021 : कोरोनाकाल के साथ तंग जीवन को हराभरा करने वाला पर्यावरण की आस

World Environment Day 2021 : आज 5 जून को विश्व पर्यावरण दिवस है । विश्व पर्यावरण दिवस पर्यावरण की सुरक्षा और संरक्षण हेतु पूरे विश्व में मनाया जाता है । पर्यावरण दिवस मनाने की घोषणा संयुक्त राष्ट्र ने 1972 में पर्यावरण के प्रति वैश्विक स्तर पर राजनीतिक और सामाजिक जागृति लाने की थी

तब से 5 जून  को पूरे विश्व मे पर्यावरण दिवस मनाया जाता है । पर्यावरण के नाम पर इस दिन शासकीय और अशासकीय कार्यक्रम होते हैं । वृक्षारोपण से लेकर गोष्ठी संगोष्ठी और जागरूकता के नाम से रैलियां निकाली जाती रहीं हैं ।

पर इस साल पर्यावरण ही सूखा मनाया जाएगा । यह बताने की जरुरत नही कि इस समय विश्व कोविड 19 महामारी संकट के दौर से गुजर रहा है । सभी कार्यक्रमों पर बंदिशें लगी हुई है । न तो गोष्ठी कर सकते न ही रैलियां निकाल सकते ।

सिर्फ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग डिजिटल प्लेट फार्म ही एक सहारा है जिसके जरिये पर्यावरण के प्रति जागरूकता लाने की कोशिश की जा सकती है । पर पर्दे के पीछे रहकर आखिर कितनी हरियाली लाई जा सकती है ? यह भी विचारणीय है ।

World Environment Day 2021 : कोरोनाकाल के साथ तंग जीवन को हराभरा करने वाला पर्यावरण की आस

Read This Also : Mehul choksi  : डोमोनिका से ख़ाली हाथ वापस लौट रहे अधिकारी, चोकसी की उम्मीद नहीं

World Environment Day 2021 : चिपको आंदोलन के प्रणेता नहीं रहे

पर्यावरण के क्षेत्र में एक दुखद प्रसंग उपस्थित हुआ है हमारे देश के पर्यावरण विद सुंदरलाल बहुगुणा का अभी हाल ही में 21 मई को निधन हो गया । उन्होंने अपना जीवन संसार की प्रकृति को संवारने और संरक्षण देने में समर्पित कर दिया ।

उन्हीने वृक्षों और प्रकृति के प्रति प्रेम जगाने चिपको आंदोलन चलाया जिनकी प्रेरणा से अनेक लोग पर्यावरण संघर्ष से जुड़े और प्रकृति को सुरक्षित रखने का संकल्प लिया ।

उन्होंने पर्वतीय क्षेत्रों में वनों के संरक्षण के लिए संघर्ष किया । वे ही नहीं उनकी धर्म पत्नी भी आंदोलन से जुड़ी हुई थी । विश्व प्रसिद्ध पर्यावरण विद सुन्दरलाल बहुगुणा का निधन देश के लिए अपूरणीय क्षति है । उनका योगदान पर्यावरण को समृद्ध करने में रहा जिसे नही भुलाया जा सकता ।

Read This Also : Coronavirus: वुहान लैब की थ्यौरी पर बोले डोनाल्‍ड ट्रंप, मैं सही था, चीन दे 10 ट्रिलियन डॉलर की Penalty

World Environment Day 2021 : कोरोनाकाल के साथ तंग जीवन को हराभरा करने वाला पर्यावरण की आस

World Environment Day 2021 : आखिर क्या है पर्यावरण ?

पर्यावरण विशेषज्ञों और वैज्ञानिकों ने कहा है कि अगर पर्यावरण को समझना है तो मानव को सबसे पहले प्रकृति के साथ सद्भाव सीखना होगा । आज हमारे देश में प्रकृति नदी,जल,जंगल,जमीन ,पहाड़ से इतनी छेड़छाड़ हो रही है कि जिससे हमारा जीवन ही खतरे में पड़ गया है ।

सच कहें तो हम अपने हाथों खुद प्रकृति का विनाश कर रहें हैं। सारे जंगल कट गए जो बचे हैं वो भी कट रहें हैं । जंगल सिर्फ अपने घरों को आलीशान सुसज्जित और दिखावे के जीवन दिखाने के नाम से काट रहें हैं । संभ्रांत बनने का यह मोह रोकना होगा और वनों को कटने से बचाना होगा नहीं तो नहीं रह जायेगी हवा न ऑक्सीजन न जिंदगी ।

World Environment Day 2021 : कोरोनाकाल के साथ तंग जीवन को हराभरा करने वाला पर्यावरण की आस

Read This Also : New virus in Nepal 2021 कोरोना के नेपाल वाले वैरिएंट ने मचाया यूरोप में हड़कंप, वैक्सीन को भी दे सकता है चकमा

World Environment Day 2021 :नदियां सूखी , पहाड़ टूटे

जंगल कटने से नदियां सूख गई है हवा और पानी तो आखिर परस्पर पूरक हैं । इधर नदियों की छाती पर बड़े बड़े डेम बना दिये गए हैं । पानी सूखने से नदियों का जीवन सिमट गया है । दुनिया की प्यास बुझाने वाली नदियां आज खुद प्यासी हैं ।

वह शुद्ध पानी व आबोहवा देने में असहाय हो गई है । कोरोनाकाल मे तो नदियों में लाशें फेकी जा रही है । अभी मई माह में ही गंगा जैसी पवित्र नदी में हजारों कोरोना वाली लाशें फेक दी गई जिससे पानी प्रदूषित हो गया ।

बिहार और यूपी की नदियां में लाशें तैर रहीं हैं । यह पूरे विश्वास के साथ कह सकते हैं कि प्रकृति के साथ हम तालमेल नहीं बिठा पा रहें हैं जिसका खामियाजा हमें भुगतना पड़ेगा ।

World Environment Day 2021 : कोरोनाकाल के साथ तंग जीवन को हराभरा करने वाला पर्यावरण की आस

Read This Also : Today Weather : मानसून के स्वागत के लिए रहिये तैयार , आज केरल में दस्तक

World Environment Day 2021 : कल कारखानोँ का विषैला जल पीती नदियां

जल,जंगल,जमीन पर उद्योगपतियों के कब्जा है ।नदी किनारे उद्योगपतियों ने बड़े बड़े कल कारखाने खड़े कर दिए हैं जिसका कचरा व मिल का गंदा पानी ज़हरीला अयस्क नदी में बह रहा है । उससे नदी का पानी बुरी तरह प्रदूषित हो रहा है ।

जबकि उद्योग पति मालामाल हो रहें हैं । सरकार का इस पर नियंत्रण नहीं है । नदी को बिना प्रदूषित किये ही उद्योग चलना चाहिए । इसे देखने का काम सरकार का है ।

सरकार को ऐसे कारखानों को लाइसेंस निरस्त करना चाहिए जो मानव जीवन को खतरे में डालने का काम कर रहें हैं  । कारखानों का मिलों का धुआं भी शहर गावँ के आबोहवा को बर्बाद कर रहा है जिससे अनेक प्रकार की बीमारी व संक्रमण घर कर रहा है ।

इसके लिए संविधान में दंडित करने का विधान है ।

World Environment Day 2021 : कोरोनाकाल के साथ तंग जीवन को हराभरा करने वाला पर्यावरण की आस

Read This Also : WORLD CYCLE DAY 2021 :रहना है जीवन में फ़ीट तो अपनी साइकिल सुपरहिट

World Environment Day 2021 : पर्यावरण संरक्षण अधिनियम

हवा,पानी ,जमीन में प्रदूषण रोकने के लिए पर्यावरण संरक्षण अधिनियम 1986 बनाया गया है । जिसके तहत कार्रवाई करके दोषी लोगों अथवा संस्था को दंडित किया जाना है ।

पर देश में ही अपने लोगों से खिलवाड़ करने वाले व प्रलोभन से जीवन को संकट में डालने वालों की कमी नहीं है ।हमारे यहां यही संकट है कि भ्रष्ट्राचार के चलते नियम से कार्रवाई नहीं की जाती और दोषी लोग बच जाते हैं ।

इसमें कारवाई करने पर दंड व जेल या दोनों की सजा मिलने का प्रावधान है । आप एक पेड़ भी बिना सरकार की अनुमति नहीं काट सकते हैं । उसके लिए भी सज़ा है ।

World Environment Day 2021 : कोरोनाकाल के साथ तंग जीवन को हराभरा करने वाला पर्यावरण की आस

Read This Also : H10N3 Strain Of Bird Flu : चीन में मिला पहला केस इंसान के अंदर बर्ड फ्लू संक्रमण का , मरीज की हालत स्थिर

World Environment Day 2021 : वृक्षारोपण पर्यावरण का बड़ा हिस्सा

वृक्षारोपण करना पर्यावरण को शुद्ध करने के लिए बड़ा काम है । जन जागरूकता लाकर हमे वृक्षारोपण बड़े पैमाने पर करना चाहिए । लेकिन विडम्बना यह है कि जब एक करोड़ पेड़ कट जाते हैं तब एक लाख पेड़ लगाए जाते हैं । 

शादी ब्याह जन्म दिन उद्घाटन शुभारम्भ ऐसे किसी भी शुभ मुहूर्त पर पौधे ही भेंट करने की परंपरा बनाये । सम्भव हो तो पेड़ों का भंडारा करें । सरकार तो हर साल वृक्षारोपण पर करोड़ो पैसा ख़र्च करती है पर आधा से ज्यादा भ्रष्ट्राचार को भेंट चढ़ जाता है ।

World Environment Day 2021 : कोरोनाकाल के साथ तंग जीवन को हराभरा करने वाला पर्यावरण की आस
World Environment Day 2021 : प्लास्टिक उपयोग बन्द नहीं होना समस्या

प्लास्टिक पर्यावरण का सबसे बड़ा शत्रु है । उसका उपयोग बन्द होना चहिये । सरकार ने प्लास्टिक पर प्रतिबन्ध लगाए जरूर है पर प्रशासन पालन करवाने में रुचि नहीं लेता है । इसी तरह घर व आस पास सफाई पर ध्यान दिया जाए ।

जितनी गंदगी कम रहेगी उतना वातावरण शुद्ध रहेगा । धुम्रपान गुटका तंबाकू पर्यावरण को बर्बाद करता है और यह स्वास्थ्य के लिए भी हानिकारक है । युवा वर्ग इस और विशेष ध्यान दे तो समस्या से निजात मिल सकती है । नशा खुद की जिंदगी को बर्बाद करता है वह दूसरों के जीवन को भी कष्टमय बनाता है । उससे दूर रहें तो ज्यादा अच्छा है ।

World Environment Day 2021 : कोरोनाकाल के साथ तंग जीवन को हराभरा करने वाला पर्यावरण की आस
World Environment Day 2021 : समर्पण और जागरूकता

पर्यावरण को समृद्ध करने के लिए इंसान में प्रकृति के संरक्षण के प्रति समर्पण का भाव होना चाहिए ताकि वह तन मन धन से समर्पित होकर प्रकृति के साथ तादात्म्य बिठा सके । जितनी वह प्रकृति की सेवा करेगा प्रकृति उतनी ही स्वस्थ रखने में सहायता करेगी ।

प्रकृति के साथ प्रत्येक व्यक्ति सदभाव पैदा करे । वह जागरूकता लाये । अपने घर परिवार और समाज मे प्रत्येक लोगों को पर्यावरण के संरक्षण के प्रति सचेत करे । पेड़ो पौधों पहाड़ों नदियों से प्यार करना सीखे और सिखाये ।

अपना घर कितना भी छोटा क्यों न हो वह बिना पेड़ के न रहे । घर आंगन में फुलवारी लगाएं । जब हम प्रकृति से प्यार करेंगे तब प्रकृति हमे प्यार करेगी । कोरोनाकाल में भी हम अपने तंग जीवन को प्रकृति के साथ जोड़कर हराभरा कर सकते हैं और फूलों की तरह ही मुस्करा सकते हैं । इसके लिये वैश्विक स्तर पर जागरूकता लाने की जरूरत है ।

World Environment Day 2021 : कोरोनाकाल के साथ तंग जीवन को हराभरा करने वाला पर्यावरण की आस
World Environment Day 2021 : कोरोनाकाल के साथ तंग जीवन को हराभरा करने वाला पर्यावरण की आस

Read This Also : छत्तीसगढ़ में BJP के पूर्व मंत्री Brijmohan Agrawal बोले- महंगाई है तो खाना-पीना छोड़ दो, पेट्रोल भी मत भरवाओ

Article By : Prerna Kale (Bilaspur)

world environment day 2021 theme and host country,
world environment day 2021 theme in india,
world environment day theme 2021 date,
world environment day 2021 quotes,
un world environment day 2021 theme,
world environment day 2021 poster,
slogan for world environment day 2021,
world environment day 2021 host country,

Leave a Reply

x
%d bloggers like this: